नई दिल्ली 
नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू करने वाला कर्नाटक पहला राज्य बनने जा रहा है। राज्य के प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा मंत्री एस सुरेश कुमार ने ऐलान किया है कि कर्नाटक में अगस्त से ही नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू हो जाएगी। शिक्षामंत्री ने शुक्रवार को ड्राफ्ट नेशनल एजुकेशन पॉलिसी कमिटी के अध्यक्ष डॉ के कस्तूरीरंगन से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बात करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने खुद की शिक्षा नीति का ड्राफ्ट तैयार किया था जिसे अब नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में मर्ज कर दिया जाएगा। उन्होंने  इसरो के पूर्व अध्यक्ष भी के कस्तूनरीरंगन से कहा कि नई शिक्षा नीति को लागू करने के लिए तेजी से काम करते हुए 20 अगस्त तक राज्य शिक्षा नीति और राष्ट्रीय शिक्षा नीति को मर्ज कर दिया जाएगा। शिक्षा मंत्री ने कहा नई शिक्षा नीति लागू करने में कर्नाटक सबसे आगे रहने वाला राज्य बनेगा। उन्होंने आगे कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति एक सम्पूर्ण नीति है जो कि 34 साल बाद भविष्य की जरूरतों को देखते हुए तैयार की गई है। इससे शिक्षा की गुणवत्वा बढ़ने के साथ ही रोजगार के मौके सृजित करने और स्थिर समाज के निर्माण में मदद मिलेगी। एस सुरेश कुमार ने कहा कि कर्नाटक इस नई शिक्षा नीति को लागू करने के लिए उत्सुक है। आपको बता दें कि नई शिक्षा नीति में कई बड़े और अहम बदलाव किए गए हैं जिसमें एमफिल को समाप्त कर स्नातक कोर्स  4 साल का कर दिया गया है।