नई दिल्ली

जाने माने क्लब क्रिकेटर और दिल्ली की अंडर 23 टीम के पूर्व सहयोगी स्टाफ संजय डोभाल का कोरोना वायरस संक्रमण के कारण सोमवार की सुबह निधन हो गया. संजय डोभाल के परिवार के करीबी सूत्र ने यह जानकारी दी. डोभाल 53 वर्ष के थे और उनके परिवार में पत्नी तथा दो बेटे हैं. बड़ा बेटा सिद्धांत राजस्थान के लिए प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलता है और छोटा बेटा एकांश दिल्ली की अंडर 23 टीम में है.

डीडीसीए के एक अधिकारी ने बताया,‘डोभाल में कोरोना वायरस संक्रमण के लक्षण थे और उन्हें पहले बहादुरगढ़ के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया. वहां जांच में वह पॉजिटिव पाए गए. उसके बाद हालात बिगड़ने पर उन्हें द्वारका के एक अस्पताल में दाखिल कराया गया. उन्हें प्लाज्मा थेरेपी भी दी गई लेकिन कोई असर नहीं हुआ.’

फिरोजशाह कोटला मैदान पर जाना माना चेहरा डोभाल दिल्ली के क्रिकेटरों वीरेंद्र सहवाग, गौतम गंभीर, मिथुन मन्हास के बीच काफी लोकप्रिय थे. उन्होंने सोनेट क्लब के लिए क्रिकेट भी खेला. गंभीर और मन्हास ने ट्विटर के जरिए प्लाज्मा डोनेशन की अपील भी की थी.

आम आदमी पार्टी के विधायक दिलीप पांडे ने डोनर का इंतजाम किया था. डोभाल ने एयर इंडिया के लिए खेलने के बाद जूनियर क्रिकेटरों को कोचिंग देना शुरू किया. बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष सीके खन्ना, दिल्ली के दिग्गज खिलाड़ियों मदन लाल और मन्हास ने उनके निधन पर शोक जताया है.

डीडीसीए के सचिव विनोद तिहारा ने एक बयान में कहा, 'संजय डोभाल की असामायिक मृत्यु क्रिकेट जगत के लिए एक बहुत बुरी खबर है. डीडीसीए की ओर से मैं इस अपूरणीय क्षति पर दिल से अपनी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं. दुख की इस घड़ी में हमारी प्रार्थनाएं परिवार के साथ हैं. ईश्वर परिवार को इस गम से उबरने का साहस दे.'