नागपुर
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने लद्दाख के गलवान घाटी में चीन के सैनिकों के साथ झड़प में 20 भारतीय जवानों के शहीद होने पर शोक व्यक्त करते हुए चीन के हिंसक तेवर की निंदा की है। आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने बुधवार को ट्वीट किया, 'संघ भारतीय सैनिकों को सलाम करता है जो लद्दाख क्षेत्र की गलवान घाटी में देश की अखंडता और स्वाभिमान की रक्षा करते हुए शहीद हो गए। उन्होंने आगे कहा है कि हम जवानों के परिवारों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हैं, जिन्होंने देश की रक्षा करते हुए अपनी जवान गवाई।' आरएसएस प्रमुख ने कहा, 'आरएसएस चीन की सरकार और उसकी सेना के आक्रामक और हिंसक व्यवहार की निंदा करता है। हम सभी भारतीय संकट के इस घड़ी में भारतीय सेना और सरकार के साथ खड़े हैं।'

गौरतलब है कि सोमवार की रात पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में भारतीय सेना के 20 सैनिक शहीद हो गये थे। सूत्रों के अनुसार इस हिंसक झड़प में चीन के 50 सैनिक मारे गए हैं। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्वी लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में शहीद हुए सैन्यकर्मियों को श्रद्धांजलि देते हुए बुधवार को कहा कि सैन्य बलों ने सदैव अदम्य साहस का परिचय दिया है और दृढ़तापूर्वक भारत की संप्रभुता की रक्षा की है। पीएम ने आगे कहा कि पूर्वी लद्दाख में अपने राष्ट्र की रक्षा करते हुए प्राण न्यौछावर करने वाले शहीदों को श्रद्धांजलि देता हूं। उनके सर्वोच्च बलिदान को कभी नहीं भुलाया जा सकेगा।