पटना 
लाभार्थियों के बीच मुफ्त में वितरण के लिए तीन महीने का अनाज राज्य सरकार ने जिलों में भेज दिया। इसी के साथ सरकार ने दाल की भी व्यवस्था कर ली है। दाल भी जिलों को भेज दिया गया। जन वितरण प्रणाली की दुकानों के खुलने की अवधि भी बढ़ा दी गई है। इसके साथ ही विभिन्न लाभुकों के लिए अलग-अलग शिफ्ट कर दिया गया।

खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के सचिव पंकज कुमार पाल ने राज्य के सभी जिलाधिकारियों को पत्र लिखकर पूरी व्यवस्था की सूचना दी है। उन्होंने कहा है कि दुकाने 7:00 बजे सुबह से ही खुलेंगी और 4:00 बजे शाम तक आनाज वितरण का काम होगा। बढ़ी हुई अवधि यानी 7:00 बजे सुबह से 10:00 बजे तक बुजुर्गों के लिए  होगी। हर श्रेणी के बुजुर्ग इस अवधि में अनाज ले सकेंगे। पहले की तरह 10:00 बजे से 2:00 बजे तक का समय सभी लाभार्थियों के लिए होगा। 2:00 से 4:00 शाम के बीच हर श्रेणी की महिलाएं दुकान पर जाकर अनाज ले सकेंगी। सरकार ने पहले भी दुकानदारों को शिफ्ट में अनाज बांटने का निर्देश दिया था, लेकिन इसका कड़ाई से पालन करने के लिए अब विभाग ने खुद ही शिफ्ट कर दिया है।

अनाज को जिलों में भेजने के साथ सरकार ने इसके प्रचार की भी व्यवस्था करने का निर्देश सभी जिलाधिकारियों को दिया है। निर्देश में कहा गया है कि गांव में ढोल बजाकर लाभुकों को यह सूचना दी जाए कि 3 महीने का अनाज उन्हें मुफ्त में सरकार दे रही है। प्रचार के लिए दूसरे स्थानीय माध्यमों का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे लोग सजग होंगे और कोई भी जन वितरण विक्रेता इस अनाज का पैसा लाभुक से नहीं ले सकेगा।

जन वितरण प्रणाली के बिक्रेता तीन माह का अनाज एक साथ उठा सकते हैं 
सरकार ने राज्य के सभी 8 करोड़ 66 लाख लाभुकों को 5 किलो अनाज मुफ्त में 3 महीना तक देने का फैसला किया है। इसी के साथ 1 करोड़ 68 लाख राशन कार्ड धारी परिवारों को एक किलो दाल भी मुफ्त में दिया जाएगा । इसके लिए सरकार ने दाल की व्यवस्था नेफेड से की है। सरकार ने यह व्यवस्था भी की है कि की जन वितरण बिक्रेता चाहे तो तीनों महीने का अनाज एक साथ उठा सकते हैं। इससे लाभुकों को भी 3 महीने का अनाज मिल जाएगा।