चंडीगढ़ 
कोरोना वायरस को लेकर गुरुवार को देशवासियों को जागरूक करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 मार्च (रविवार) के दिन जनता कर्फ्यू का आह्वान किया है। प्रधानमंत्री ने लोगों से अपील की है कि रविवार के दिन लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकलें। इसको देखते हुए राज्य सरकारों ने भी तैयारी शुरू कर दी है। दिल्ली मेट्रो को इस दिन बंद रखने का फैसला किया गया है। वहीं, हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार ने इस दिन पूरे प्रदेश में धारा-144 लगाने का फैसला किया है।

इस दिन हरियाणा में कोई भी सरकारी बसें नहीं चलेंगी। प्रदेश के परिवहन मंत्री ने की घोषणा की है कि 22 मार्च जनता कर्फ्यू के दौरान हरियाणा रोडवेज की बसें नहीं चलेंगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में देशवासियों से कोरोना से लड़ने के लिए जागरूक रहने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि अतिआवश्यक होने पर ही घरों से निकलें। उन्होंने बच्चे और बुजुर्गों से खास सतर्कता बरतने की अपील की है।

छत्तीसगढ़ के कई जिलों में धारा-144
कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग के सभी जिलों में भी धारा 144 लागू कर दी गई है। पूरे क्षेत्र को हाई अलर्ट पर रखा गया है। सभी जिलों में सभा, रैली, जुलूस आदि भीड़ जुटने वाले सभी तरह के आयोजनों पर प्रतिबंध लगा दिए गए हैं।

दंतेवाड़ा में मां दंतेश्वरी का दर्शन 31 मार्च तक दुर्लभ होगा। पुरातत्व विभाग ने मंदिर परिसर के मुख्य द्वार पर सूचना लगाते ताला जड़ दिया है। हालांकि साइड के द्वार खुले होने से लोग दर्शन के लिए पहुंचते रहे। लेकिन उन्हें भी गर्भगृह से दूर रखा गया है। ऐसा कोरोना से बचाव के लिए प्रशासन कर रहा है। गांव देहात के मेला मड़ाई में भीड़ न करने और मंदिरों की बजाए घरों में पूजा पाठ की अपील की जा रही है।

प्रशासन द्वारा अधिकारियों के साथ पुजारी, प्रमुखों को पत्र जारी किया है, जिसमें कोरोना वायरस का उल्लेख करते हुये सर्तकता बरतने को कहा गया है। कोरोना के संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रदेश शासन की एडवाइजरी पर जिला प्रशासन ने कल सख्त कदम उठाते हुए एहतियात के तौर पर जगदलपुर स्थित मॉल, शहीद पार्क स्थित चौपाटी एवं सिरहासार भवन को 10 अप्रैल तक बंद करने के आदेश दिए हैं।

इसी प्रकार प्रतिदिन जगदलपुर से हैदराबाद, विजयवाड़ा और विशाखापटनम के मध्य चलाए जाने वाले अन्तरार्ज्यीय बस सेवा को भी 10 अप्रैल तक प्रतिबंधित किया गया है। इसी प्रकार केन्द्रीय जेल जगदलपुर में परिरूद्ध बंदियों से परिजनों के मुलाकात पर पाबंदी 10 अप्रैल तक लगायी गयी है।