वेलिंग्टन 

न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में टीम इंडिया को 10 विकेट से करारी हार का सामना करना पड़ा है. भारत को विकेटों के लिहाज से दिसंबर 2013 के बाद सबसे करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा. 2013 में  डरबन टेस्ट में साउथ अफ्रीका ने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली भारतीय टीम को 10 विकेट से शिकस्त दी थी.

खुल गई ओपनिंग की पोल

टीम इंडिया की ओपनिंग जोड़ी के एक बार फिर फ्लॉप होने से टॉप ऑर्डर की पोल खुल गई. भारतीय टीम को सबसे महंगा पड़ा शानदार फॉर्म में चल रहे केएल राहुल को टेस्ट टीम में नहीं चुनना. पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल की अनुभवहीन जोड़ी के फेल होने के बाद मिडिल ऑर्डर पर दबाव पड़ रहा है.
 
वेलिंग्टन टेस्ट की पहली पारी में पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल ने 16 रन की पार्टनरशिप की. वहीं, दूसरी पारी में भी ये दोनों सिर्फ 27 रन ही जोड़ पाए. ओपनिंग जोड़ी के फ्लॉप होने से मिडिल ऑर्डर में चेतेश्वर पुजारा और विराट कोहली पर दबाव पड़ा जिससे ये दिग्गज भी नाकाम रहे.

इनफॅार्म राहुल को न चुनना बड़ी गलती

न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए टीम इंडिया में कोई भी अनुभवी ओपनर नहीं है. टेस्ट टीम में न तो रोहित शर्मा हैं और न ही केएल राहुल.  रोहित शर्मा चोट के कारण टेस्ट सीरीज से बाहर हैं. केएल राहुल अगर टेस्ट टीम में होते तो एक अनुभवी ओपनर के खेलने से टीम इंडिया को मजबूती मिलती.

टी-20 सीरीज में बरसाए थे रन

हाल ही में खेली गई टी-20 सीरीज में केएल राहुल ने रनों की बरसात की थी. इनफॅार्म बल्लेबाज लोकेश राहुल ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पांच मैचों की टी-20 सीरीज में कुल 224 रन बनाए और 'मैन ऑफ द सीरीज' का अवॉर्ड जीता. राहुल ने न्यूजीलैंड के खिलाफ समाप्त हुई पांच मैचों की टी-20 सीरीज में 56, नाबाद 57, 27, 39 और 45 रनों की पारी खेली.
 

राहुल ने न्यूजीलैंड के खिलाफ इस सीरीज में विकेटकीपर की भूमिका निभाने के अलावा दो अर्धशतक के साथ 224 रन बनाकर टीम को 5-0 से जिताने में अहम भूमिका निभाई थी. केएल राहुल ने अपना आखिरी टेस्ट पिछले साल अगस्त में वेस्टइंडीज में खेला था, इसके बाद उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया. लेकिन वनडे और टी-20 में राहुल ने शानदार प्रदर्शन किया. पिछले एक साल में राहुल ने 16 वनडे मैचों में 47.86 की बेहतरीन औसत से 718 रन बनाए, जिसमें दो शतक और 4 अर्धशतक शामिल हैं.

फ्लॉप रहे पृथ्वी शॉ

पृथ्वी शॉ की बात करें तो दूसरे टेस्ट मैच में उनकी जगह नहीं बनती. वेलिंग्टन टेस्ट की पहली पारी में पृथ्वी शॉ ने 16 रन बनाए जबकि दूसरी पारी में वह 14 रन बनाकर आउट हो गए.  मयंक अग्रवाल हालांकि अपनी जगह बचाने में कामयाब रहे. अग्रवाल ने दूसरी पारी में 58 रन बनाए थे. पृथ्वी शॉ के पहले ही टेस्ट की दोनों पारियों के नाकाम प्रदर्शन के बाद फैन्स नाखुश है. फैन्स ने टि्वटर पर विराट कोहली से डिमांड की है कि वह दूसरे टेस्ट मैच में पृथ्वी शॉ की जगह शुभमन गिल को प्लेइंग इलेवन में शामिल करें.