वेलिंग्टन
भारतीय टीम के सबसे वरिष्ठ खिलाड़ी इशांत शर्मा को उन लोगों के रवैये से बड़ी हैरानी होती है, जो जसप्रीत बुमराह के पिछले दो वर्षों के प्रदर्शन की अनदेखी करके उनकी काबिलियत पर सवाल उठा रहे हैं। भारत के लिए 97 टेस्ट मैच खेल चुके इस अनुभवी तेज गेंदबाज ने अपने साथी मोहम्मद शमी की तरह ही बुमराह के आलोचकों को जवाब दिया।

इशांत ने अपने साथी का बचाव करते हुए पूछा, ''यह हैरानी की बात है कि राय एक पारी के बाद बदल जाती है। पिछले दो वर्षों से हमने हमेशा 20 विकेट चटकाए हैं, मैं, बूम (बुमराह का ड्रेसिंग रूम में निकनेम) और शमी ने ऐश या जड्डू ऐसा कर रहे हैं। एक टेस्ट पारी के आधार पर लोग कैसे सवाल पूछ सकते हैं?''

उन्होंने कहा, ''मुझे नहीं लगता कि किसी को भी बूम की काबिलियत पर शक है। अपने पदार्पण से ही उसने जो कुछ भारत के लिए हासिल किया है, मुझे नहीं लगता कि किसी को भी कोई सवाल उठाने चाहिए।'' शमी ने भी बुमराह के तीन वनडे में विकेट नहीं चटका पाने के बारे में पूछने पर यही बात कही थी।

शमी ने कहा था कि मैं समझ सकता हूं कि अगर हम एक विषय पर कुछ समय बाद चर्चा करें, पर महज दो-चार मैचों के बाद ऐसा करना। उसने महज दो मैचों में अच्छा नहीं किया तो आप उसकी मैच जीतने की काबिलियत की अनदेखी नहीं कर सकते।

उन्होंने कहा था कि बुमराह ने भारत के लिए कितना कुछ हासिल किया है, आप इसे कैसे भूल सकते हो या फिर आप इसकी अनदेखी कैसे कर सकते हो? इसलिए अगर आप सकारात्मक रूप से सोचोगे तो यह खिलाड़ी के लिए अच्छा है और उसके आत्मविश्वास के लिए भी।