पटना 
इस साल बिहार में होने वाले विधान सभा चुनाव को एनडीए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही लड़ेगा। बीते 16 जनवरी को वैशाली की जनसभा में भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और गृह मंत्री अमित शाह की घोषणा के बाद शनिवार को बतौर भाजपा अध्यक्ष पहली बार पटना आए जगत प्रकाश नड्डा ने भी इसे दुहराया। कहा कि बिहार में इस साल नवम्बर में विधानसभा चुनाव है। एनडीए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही चुनावी मैदान में जाएगा।

एक दिवसीय दौरे में पटना पहुंचे भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा प्रदेश कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में 11 संगठनात्मक जिलों में पार्टी के नवनिर्मित कार्यालय का उद्घाटन किया। कार्यकर्ताओं से निवेदन किया कि वे इधर-उधर की बातों में नहीं जाएं। पूरी ताकत लगाएं। बिहार में विपक्ष हमेशा घात लगाने की कोशिश में लगा रहता है लेकिन ध्यान नहीं भटकाना है। बिहार में पिछले 10 वर्षों में काफी विकास हुआ है। खासकर पिछले 5 वर्षों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिहार को हजारों करोड़ दिए। उन पैसों को आधारभूत संरचना सहित अन्य विकासात्मक कार्यों के माध्यम से जमीन पर उतारा है मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने। एनडीए ने बिहार की तकदीर बदली है। पहले मुजफ्फरपुर जाने में सात घंटे लगते थे तो अब चंपारण भी तीन-चार घंटे में चला जाता हूं। पुल-पुलिया, सड़क, फ्लाईओवर का जाल बिछा है। बिहार म्यूजियम, पुलिस मुख्यालय का सरदार पटेल भवन विकास की कहानी बता रहा है।

भाजपा को विकास का दूसरा नाम बताते हुए पार्टी अध्यक्ष नड्डा ने कहा कि देश में ढाई हजार राजनीतिक पार्टियां हैं। इसमें 59 को राज्यस्तरीय तो सात को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा है। दूसरी पार्टियों के लिए वोट बैंक आगे तो देश पीछे है जबकि भाजपा के लिए देश आगे और वोट बैंक पीछे है। भाजपा के लिए पार्टी परिवार है तो दूसरे दलों में परिवार ही पार्टी है। कांग्रेस पर तंज कसा कि कैसे एक ही परिवार की तीन-चार पीढ़ियों का जयकारा लगाते-लगाते लोग थक जाते होंगे।  देश में इकलौती पार्टी भाजपा है जिसने वैचारिक लड़ाई को सरकार बनाने पर पूरा किया। एक देश,एक विधान का नारा देने वाली भाजपा सरकार में आने पर जम्मू-कश्मीर से 370 हटाया। अब वहां के लोग खुश हैं। मोदी सरकार के कारण देश की छवि दुनिया में अलग बनी है। भ्रष्टाचार करने वाले या तो जेल में होंगे या बेल पर। 

सभी जिलों में पार्टी कार्यालय
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि संगठन के लिए पांच क यानी कार्यकर्ता, कार्यक्रम, कार्यकारिणी, कोष और कार्यालय का होना जरूरी है। देश का कोई ऐसा जिला नहीं होगा जहां भाजपा का कार्यालय नहीं होगा। 590 जिले में जमीन खरीदी जा चुकी है जिसमें से 487 कार्यालय बन चुके हैं। यह कार्यालय केवल एक ढांचा नहीं, इसमें अत्याधुनिक सुविधाएं, सेमिनार व सभा हॉल, वीडियो-ऑडियो कांफ्रेंसिंग की सुविधा और ई-लाईब्रेरी होगी। कार्यकर्ता यह नहीं सोंचे कि मेरा क्या होगा। जब पार्टी आगे बढ़ेगी तो देश बढ़ेगा और खुशहाली आएगी। 

बचपन को याद कर हुए इमोश्नल
बचपन की यादों को करते हुए जेपी नड्डा ने कहा कि बिहार के साथ व्यक्तिगत भावनाएं जुड़ी है। प्रदेश कार्यालय में पार्टी के तमाम बड़े नेताओं को एयरपोर्ट से लाता रहा हूं। 18 मार्च 1974 को जेपी आंदोलन में लाठियां खाई। इसके बाद ही राजनीति में प्रवेश किया। कार्यकर्ताओं को टिप्स दिए कि राजनीति करनी हैं तो शत-प्रतिशत करें, पार्ट टाइम राजनीति नहीं होती।

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में एनडीए को अपार सफलता मिली है। 2020 का चुनाव भी एनडीए ही जीतेगा। मुश्किल से 12 सीट भी महागठबंधन जीत गया तो वह धोखे से ही जीतेगा। 2010 से अधिक सीट एनडीए को हासिल होगी। दुनिया की कोई ताकत बिहार में एनडीए की सरकार बनने से नहीं रोक सकती है। 

स्वागत भाषण में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने कहा कि बिहार के सभी जिलों में भाजपा का अपना कार्यालय होगा।  45 संगठन जिले में से 36 में जमीन मिल चुकी है। 11 बन गए और इस साल के अंत तक 30 बन जाएंगे। कार्यालय बन जाने से कार्यकर्ताओं को पार्टी की गतिविधियों को अंजाम देने में सुविधा होगी। जिला कार्यालय निर्माण की देखरेख ब्रजेश रमण कर रहे हैं। 

प्रदेश अध्यक्ष ने राष्ट्रीय अध्यक्ष को उनकी बचपन से जुड़ी तस्वीरों का एक कोलाज और तैल चित्र भेंट किया। सांसद गोपालजी ठाकुर ने मिथिला पाग व मखाना, पटना महानगर भाजपा अध्यक्ष अभिषेक कुमार ने बुद्ध की मूर्ति भेंट की। मंच पर मंत्रियों में डॉ प्रेम कुमार, नंद किशोर यादव और मंगल पांडेय, सांसद राधा मोहन सिंह, आरके सिन्हा, विधान पार्षद संजय मयूख और रजनीश कुमार, संगठन मंत्री नागेन्द्र और सह महामंत्री शिव नारायण मौजूद थे। संचालन सुशील चौधरी तो धन्यवाद ज्ञापन मुख्यालय प्रभारी देवेश कुमार ने किया।