पटना 
पटना में शनिवार को आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में भाकपा नेता कन्हैया कुमार ने कहा कि सीएए के विरोध में निकली यात्रा को लोगों का भरपूर समर्थन मिला। कन्हैया ने कहा कि 27 फरवरी को पटना के गांधी मैदान में होने वाली रैली ऐतिहासिक होगी। कन्हैया ने बताया कि जन गण मन यात्रा चुनावी यात्रा नहीं थी। 38 में मात्र 9 जिलों में चंद लोगो ने इस यात्रा का विरोध किया जबकि बड़ी संख्या में लोग सभा में शामिल हुए। इस दौरान मुझे स्थानीय मुद्दों को भी इस यात्रा के दौरान जानने का मौका मिला। 

कन्हैया कुमार बोले- रोटी, कपड़ा और मकान होगा बिहार चुनाव का मुद्दा

जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष व भाकपा नेता कन्हैया कुमार ने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार समस्याओं से लोगों का ध्यान भटका रही है। इसके लिए धर्म के मुद्दे को उठाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि रोजी, रोटी, कपड़ा और मकान चुनाव का मुद्दा होना चाहिए। बिहार का अगला चुनाव इन्हीं मुद्दों पर लड़ा जाएगा। कन्हैया बुधवार को समस्तीपुर के हाउसिंग बोर्ड मैदान में जन, गण, मन यात्रा के दौरान आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि दिल्ली में भी भाजपा ने धर्म को चुनाव का मुद्दा बनाया, लेकिन उसे सफलता नहीं मिली। उन्होंने कहा कि बिहार बदलेगा, समस्याओं से लड़ेगा और तस्वीर बदलेगी। सभा के निर्धारित समय से करीब एक घंटा विलंब से पहुंचे जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि बिहार के लोग मेहनती और प्रतिभाशाली हैं। यहां के लोग दिल्ली और दूसरे प्रदेश में जाकर शासन तक चलाने में योगदान कर रहे हैं। यूपीएससी की परीक्षा में अच्छी संख्या में यहां के छात्र पास होते हैं। लेकिन बिहार में अवसर नहीं मिलने के कारण कुछ नहीं कर पाते हैं। इससे पहले प्रधानमंत्री और गृहमंत्री का नाम लिये बगैर उन्होंने भाजपा सरकार पर कड़े प्रहार किये।