नई दिल्ली 
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया अमेरिकी प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप की मंगलवार सुबह एक सरकारी स्कूल में यात्रा के दौरान मौजूद नहीं रहेंगे। शनिवार आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारी ने यह जानकारी दी। अमेरिकी प्रथम महिला और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प सोमवार को अपने दो दिवसीय यात्रा के लिए भारत पहुंचेंगे। मंगलवार को फर्स्ट लेडी अपने 'बे बेस्ट' पहल को लेकर दिल्ली के एक सरकारी स्कूल में जाने वाली हैं। 

जहां दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया उनके साथ रहने वाले थे। सिसोदिया शिक्षा मंत्री भी हैं। ऐसे में केजरीवाल और सिसोदिया को मेलानिया ट्रंप का स्वागत करना था और छात्रों को प्रदान किए जा रहे हैप्पीनेस पाठ्यक्रम के बारे में जानकारी देना था। 

नाम न छापने की शर्त पर एक दिल्ली सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि यह विचित्र है कि शहर के शिक्षा मंत्री को अतिथि की सूची में शामिल नहीं किया गया है, जबकि पूरे स्कूल का कार्यक्रम 2018 में दिल्ली सरकार की ओर से शुरू किए गए हैप्पीनेस पाठ्यक्रम पर केंद्रीत है। हमें अभी तक यह नहीं बताया गया है कि फर्स्ट लेडी को कोर्स की बारीकियां समझाने के लिए उनके साथ कौन रहेगा। हमे पता चला है कि सीएम और डिप्टी सीएम का नाम केंद्र सरकार के दबाव पर हटाया गया है।

पिछले दिनों सिसोदिया ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि मिलेनिया ट्रंप को हैप्पीनेश पाठ्यक्रम में शामिल होने के लिए राजधानी के कुछ स्कूलों में तैयारी चल रही है लेकिन मैं आपको इसके बारे में अधिक नहीं बता सकता। वहीं विदेश मंत्रालय और सरकार की मानें तो सभी तैयारियां हो रही हैं। 

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप 36 घंटे से भी कम समय की अपनी भारत यात्रा के लिए पत्नी मिलेनिया, बेटी इवांका और दामाद जेरेड कुशनेर एवं उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल के साथ 24 फरवरी की दोपहर को अहमदाबाद पहुंचेंगे। अहमदाबाद से यह प्रतिनिधिमंडल आगरा जाएगा और फिर अपनी यात्रा के अहम पड़ाव के तहत राष्ट्रीय राजधानी पहुंचेगा।