टीम इंडिया के मुख्य तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने कहा कि अगर वह आज टीम इंडिया में खेल रहे हैं तो इसका पूरा श्रेय जॉन राइट को जाता है। बुमराह ने कहा कि वह जॉन राइट ही हैं, जिन्होंने मेरी प्रतिभा का जाना और फिर खेल की जरूरत के हिसाब से इसे तराशा भी।
बता दें कि टीम इंडिया के पूर्व कोच रहे जॉन राइट जब मुंबई इंडियंस के साथ जुड़े थे, तब बुमराह को उन्होंने ही मुंबई इंडियंस के लिए सिलेक्ट किया था। इसके बाद बुमराह को अपनी दमदार बोलिंग के दम आईपीएल में मुंबई इंडियंस की ओर से खेलने का चांस मिला और फिर उन्होंने खुद को साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी।


हमारे सहयोगी क्रिकबज को दिए एक इंटरव्यू में इस तेज गेंदबाज ने बताया, 'जब मैं 19 साल का था, तब मैं सैयद मुश्ताक अली ट्रोफी टूर्नमेंट अपनी टीम गुजरात खेलने के लिए मुंबई में था। यहां मुंबई के कोच जॉन राइट की नजर मुझ पर पड़ी और उन्होंने हमारे कप्तान पार्थिव पटेल से मुझे लेकर बात की थी।'


2016 में अपने इंटरनैशनल करियर की शुरुआत करने वाले बुमराह ने आगे बताया, 'पार्थिव पटेल ने मुझे इस बारे में बताया था तो मुझे विश्वास नहीं हुआ। तब मैंने उन्हें कहा था कि मजाक मत बनाओ अभी तो मैंने एक-दो घरेलू मैच ही खेले हैं और मुझे पता है कि इतनी जल्दी किसी का सिलेक्शन नहीं होता।'

इस खिलाड़ी ने अपने खेल का पूरा श्रेय जॉन राइट को देते हुए कहा, 'जॉन राइट के पास टेलंट पहचाने की अद्भुत क्षमता है और मैं भाग्यशाली था कि उन्होंने मुझे भी मौका दिया। इसके बाद उन्होंने मेरी बोलिंग और फिटनेस पर खूब काम किया और इसी की बदौलत मैं यहां तक पहुंच पाया हूं।' अपने करियर में बुमराह अभी तक 13 टेस्ट, 64 वनडे और 50 टी20 इंटरनैशनल मैच खेल चुके हैं।

इस तेज गेंदबाज ने कहा, 'मैं आज भी कोच जॉन राइट के संपर्क में रहता हूं और अपने खेल को लेकर उनसे राय-मशविरा करता रहता हूं। मैं उन्हें यह भी कहा करता हूं कि आपकी ही बदौलत मैं भारतीय टीम में खेल रहा हूं। हालांकि जॉन राइट कहते हैं कि मैंने कुछ ऐसा नहीं किया तुम अपनी प्रतिभा और मेहनत के दम पर यहां हो।' इस विडियो में बुमराह ने अपने खेल से जुड़ी और भी कई बातों के बारे में बताया है।