नागपुर
ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के नेता वारिस पठान की ‘15 करोड़ मुस्लिम 100 करोड़ पर भारी पड़ेंगे...’ बयान पर सियासी दलों के बीच जुबानी जंग जारी है। अब महाराष्ट्र के बीजेपी विधान पार्षद और पार्टी प्रवक्ता गिरिश व्यास ने कहा कि गुजरात में जो कुछ हुआ, उसे उन्हें (वारिस पठान) नहीं भूलना चाहिए।

व्यास ने मुस्लिम समुदाय से वारिस पठान जैसे लोगों का बहिष्कार करने और ‘उन्हें सबक सिखाने’ की अपील की। एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा, ‘इस देश के युवा, देभभक्त और बीजेपी का प्रत्येक युवा वारिस पठान को उसी भाषा में जवाब दे सकता है, जैसा उन्होंने इस्तेमाल किया है।’


पठान पर राजद्रोह की कार्रवाई की मांग
बीजेपी प्रवक्ता ने कहा, ‘हम बहुत सहिष्णु और धैर्यवान हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम इससे निपट नहीं सकते हैं। क्या गुजरात के कालुपुर में जो हुआ था, वह याद है। अगर उसे याद रखें...तो मेरा विश्वास है कि मुस्लिम आज उठने की कोशिश का साहस नहीं करेंगे।’


दरअसल, व्यास गुजरात में गोधरा के बाद वाले 2002 के दंगे का हवाला दे रहे थे। इस दंगे में करीब 1,000 लोग मारे गए थे। उन्होंने कहा, ‘महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को वारिस पठान के खिलाफ राजद्रोह की कार्रवाई करनी चाहिए और केंद्र सरकार को उसे पाकिस्तान भेज देना चाहिए।’

'क्या आप समझते हैं, हमने चूड़ियां पहन रखी हैं?'
नागपुर के रहनेवाले व्यास ने पठान को इस शहर आने की चुनौती दी। उन्होंने कहा, ‘हम आपके लिए सही व्यवस्था करेंगे कि क्या आप यह समझते हैं कि हमने चूड़ियां पहन रखी हैं? हम आप से निपटने के लिए तैयार हैं, लेकिन हम यह चाहते हैं कि समाज में आपसी भाईचारा बना रहे।’

क्या कहा था वारिस पठान ने?
बता दें कि उत्तरी कर्नाटक में 16 फरवरी को कलबुर्गी में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ एक रैली को संबोधित करते हुए पठान ने कहा था, ‘हमें साथ आना होगा। हमें आजादी लेनी होगी। जो चीजें मांगकर नहीं मिलती हैं, उनसे जबरन लेना होगा, याद रखें...भले ही हम 15 करोड़ हैं लेकिन 100 करोड़ पर भारी हैं।’