नई दिल्ली 
'आप' नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने शुक्रवार को कहा कि चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर चाहें तो आम आदमी पार्टी में शामिल हो सकते हैं, इस पर पार्टी को कोई ऐतराज नहीं है। बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने चुनावी रणनीति के लिए दिल्ली विधानसभा चुनाव में प्रशांत किशोर की आई-पैक की सेवा ली थी और चुनाव में आसान जीत दर्ज कर तीसरी बार मुख्यमंत्री बने हैं। 

मुंबई में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में संजय सिंह ने कहा, अगर प्रशांत किशोर जी हमें ज्वाइन करना चाहते हैं तो हमलोगों को कोई आपत्ति नहीं है। हालांकि, यह फैसला उनका होगा कि वह आना चाहते हैं या नहीं।'

पिछले महीने नागरिकता संशोधन कानून पर पार्टी लाइन से इतर आवाज उठाने की वजह से जनता दल यूनाइटेड ने प्रशांत किशोर को पार्टी से निकाल दिया था। इसके बाद पिछले सप्ताह उन्होंने पहली बार इस मसले पर चुप्पी तोड़ी और कहा कि नीतीश कुमार से उनका सिर्फ वैचारिक मतभेद है। पटना में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रशांत किशोर ने नीतीश पर गोडसे की विचारधारा वाले लोगों के साथ रहने का आरोप लगाया था। 

इसके अलावा, प्रशांत किशोर ने बिहार के युवाओं को राजनीति में आने के लिए प्रेरित और जागरूक करने के लिए एक अभियान चलाया है, जिसका नाम है- 'बात बिहार की'। बात बिहार की अभियान के लिए उन्होंने एक वेबसाइट भी लॉन्च किया है, जिसमें काफी तेजी से युवा जुड़ रहे हैं। 

प्रशांत किशोर ने भले ही सार्वजनिक तौर पर इस बात का ऐलान किया था कि बिहार चुनाव में हार या जीत के लिए किसी गठबंधन का हिस्सा नहीं होंगे, मगर वह बिहार के विपक्षी नेताओं के साथ लगातार बैठकें कर रहे हैं। गुरुवार को दिल्ली के एक होटल में उन्होंने हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के प्रमुख जीतनराम मांझी और रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा के साथ गुफ्तगू की।