मेलबर्न

दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी राफेल नडाल और विंबलडन चैम्पियन सिमोना हालेप ने ऑस्ट्रेलियाई ओपन के चौथे दौर में जगह बनाई. सेरेना विलियम्स और गत चैम्पियन नाओमी ओसाका के बाहर होने के एक दिन बाद दूसरी वरीय कैरोलिना प्लिस्कोवा का सफर भी महिलाओं के ड्रॉ से खत्म हो गया.

अब शीर्ष तीन महिला वरीय खिलाड़ियों में से प्लिस्कोवा और ओसाका के हारने से हालेप और 2016 की विजेता एंजेलिक कर्बर के लिए बड़ी बाधा हट गई है. स्पेन के स्टार नडाल शुक्रवार को देर रात रोजर फेडरर के जॉन मिलमैन के खिलाफ रोमांचक मुकाबले को देखने के बाद हमवतन पाब्लो कारेनो बुस्टा के खिलाफ कोर्ट पर उतरे.

33 साल के नडाल ने कहा, ‘मैंने यह मैच रात एक बजे तक देखा. इस मैच को देखे बिना नींद आना असंभव था.’ लेकिन उन पर थकान का कोई असर नहीं दिख रहा था, उन्होंने एक घंटे 38 मिनट में 6-1 6-2 6-4 से जीत हासिल की. नडाल मेलबर्न में जीत के साथ फेडरर के रिकॉर्ड 20 ग्रैंड स्लैम खिताब की बराबरी कर सकते हैं. अब वह कारेन खाचानोव और निक किर्गियोस के बीच होने वाले मुकाबले के विजेता से भिड़ेंगे.

पुरुष एकल में दिग्गज रोजर फेडरर संघर्षपूर्ण जीत के साथ चौथे दौर में पहुंचे, जबकि गत विजेता नोवाक जोकोविच को ज्यादा पसीना नहीं बहाना पड़ा. छह बार के चैम्पियन फेडरर को हालांकि अगले दौरे में पहुंचने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाना पड़ा. स्विट्जरलैंड के इस खिलाड़ी को ऑस्ट्रेलियन ओपन के अपने 100वें मैच में जॉन मिलमैन से कड़ी चुनौती मिली. फेडरर ने 4-6, 7-6, 6-4, 4-6, 7-6 से मुकाबला जीतकर अपना 21वां ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने का ख्वाब जिंदा रखा.

रिकॉर्ड आठवां खिताब जीतने के लिए उतरे जोकोविच ने शानदार फॉर्म जारी रखते हुए ऑस्ट्रेलियन ओपन के चौथे दौर में जगह बना ली। सर्बिया के इस खिलाड़ी ने जापान के योशिहितो निशिओका को 6-3, 6-2 , 6-2 से मात दी