नई दिल्ली
दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा का प्रचार अभियान मंगलवार से शुरू हो जाएगा। इस अभियान में पार्टी के सभी बड़े दिग्गज नेता शिरकत करेंगे। इसके लिए पाटीर् ने 1०० से ज्यादा दिग्गज नेताओं से संपर्क साधा है। दिल्ली भाजपा को अभी तक प्रधानमंत्री मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, साध्वी निरंजन ज्योति, गिरिराज सिंह, अश्विनी चौबे, रविशंकर प्रसाद, प्रकाश जावड़ेकर, नित्यानंद राय, बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी और भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन की तरफ से प्रचार  करने की सहमति मिल चुकी है। पार्टी सूत्रों के अनुसार, प्रधानमंत्री पार्टी को राष्ट्रीय राजधानी में जिताने के लिए तीन बड़ी रैलियों को संबोधित करेंगे। अमित शाह 6 और राजनाथ सिंह 7 से 10 रैलियों को संबोधित करेंगे। सूत्रों ने यह भी बताया कि जरूरत पड़ने पर इन नेताओं की रैलियों की संख्या बढ़ाई भी जा सकती है। दिल्ली में सबसे ज्यादा प्रचार केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे। इन दोनों नेताओं की सभा मांग के अनुसार तय की जाएगी।

पार्टी ने तय किया है कि बड़ी रैलियों के बजाय छोटी सभाओं पर ज्यादा फोकस किया जाए। पार्टी ने अपने नेताओं को बड़ी सभाओं के बजाय गली-मोहल्लों में छोटी-छोटी सभाएं करने को कहा है। सूत्रों के मुताबिक, पार्टी राज्य में चुनाव प्रचार के दौरान 5 हजार से ज्यादा सभाएं करेगी। पार्टी का लक्ष्य है कि वह दिल्लीभर में हर दिन 250 छोटी सभाएं करे। साथ ही कहा गया है कि इन सभाओं में 200 से ज्यादा लोगों की मौजूदगी नहीं होनी चाहिए।

नेताओं के दौरे और सभाओं को लेकर पाटीर् इस बार बाकायदा रोस्टर भी तैयार कर रही है। नेताओं को निदेर्श दिया गया है कि वे सभाओं में सिर्फ केंद्र की योजनाओं पर फोकस करें। साथ ही यह भी कहा गया है कि केजरीवाल सरकार की योजनाओं का तथ्यों के साथ पदाफार्श किया जाए। दिल्ली के बाहर से 5०० से ज्यादा भाजपा कार्यकर्ता दिल्ली में पिछले एक महीने से कैम्प कर रहे हैं। वे पाटीर् को जिताने के लिए बूथ से लेकर मुहल्लों तक में सक्रिय हैं। बाहर से आए कार्यकतार्ओं में ज्यादातर उत्तरप्रदेश और बिहार से हैं।