इंदौर
इंदौर के भू-माफिया (land mafia) जीतू सोनी (jitu soni) के डांस बार (dance bar) में तीन साल पहले एक डांसर की संदिग्ध हालात में मौत के केस की नये सिरे से जांच हो रही है. पुलिस ने इस मामले में फरार भू-माफिया जीतू सोनी और एक अन्य के खिलाफ उसे आत्महत्या (suicide) के लिए उकसाने का केस दर्ज किया है. डीआईजी (dig) के निर्देश पर इस केस की फाइल दोबारा खोली गयी है.

जीतू सोनी के खिलाफ एक और केस दर्ज हो गया है. ये उसकी डांस बार में एक डांसर के कथित रूप से आत्महत्या करने का है. सोनी के खिलाफ उसे आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज किया गया है. डांसर ने तीन साल पहले कथित तौर पर आत्महत्या की थी और अब जाकर केस दर्ज हुआ है. जीतू सोनी सहित ,तत्कालीन थाना प्रभारी सहित जांच अधिकारी भी जांच के दायरे में हैं.

तीन साल पहले 24 जनवरी 2017 को माय होम डांस बार में डांसर नेहा की कमरा नंबर 407 में संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी. लेकिन जीतू ने अपने बाहुबल के दम पर मामले को दबाने की कोशिश की थी. जीतू सोनी को खबर मिलते ही उसने वहां मौजूद कर्मचारियों के माध्यम से ही डांसर के शव को पोस्टमॉर्टम रूम पहुंचवाया और पोस्टमॉर्टम के बाद शव परिवार के सुपुर्द कर दिया था. इस मामले में कुछ दिन बाद पुलिस ने फाइल बंद कर दी.संदिग्ध हालात में मौत को आत्म ह्त्या करार दे दिया था.

जीतू सोनी के कारनामों के सिलसिले वार खुलासे में इस बात की जानकारी इंदौर डीआईजी को मिली थी कि डांस बार में काम करने वाली एक डांसर नेहा की संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी.डीआईजी के निर्देश के बाद मामले की बंद फाइल फिर से खोली गयी और नए सिरे से जांच शुरू हुई. पुलिस का एक दल बंगाल जाकर परिवार से मिला और जांच की. परिवार के बयानों में इस बात का खुलासा हुआ कि उनकी बेटी नेहा की आत्म ह्त्या का जिम्मेदार जीतू सोनी और उसका कथित प्रेमी राजू है.पुलिस ने मामले में दोनों की भूमिका पाए जाते ही दोनों के विरुद्ध आत्म ह्त्या के लिए उकसाने की धारा 306 के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया. साथ ही पलासिया थाने में तैनात तत्कालीन थाना प्रभारी और जांच अधिकारी की भूमिका की भी जांच शुरू कर दी है. पुलिस अधिकारियों पर भी जल्द ही कार्रवाई हो सकती है.

घर लौटने के बजाए लाश लौटीसूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़ डांसर की मौत की जानकारी थाने में भी देर से दी गई. मौके पर फॉरेंसिक अधिकारियों को भी जांच करने के लिए नहीं कहा गया. मृतक डांसर के परिवार को पुलिस से नहीं मिलने दिया गया.जानकारी मिली है कि नेहा को कुछ महीनों से जीतू सोनी ने पैसे नहीं दिए थे.वह बार बार पैसों की मांग कर रही थी.साथ ही उसका प्रेमी रामू भी उसे वहीं काम करने के लिए मजबूर कर रहा था. मौत से एक दिन पहले ही नेहा ने अपने परिवार को फोन पर खबर दी थी कि वो कल बंगाल आ रही है. लेकिन उसके बाद परिवार को उसकी मौत की खबर मिली.घटना के बाद परिवार इंदौर आया लेकिन जीतू सोनी के गुंडों ने उन्हें धमका कर यहां से भगा दिया और पुलिस से भी नहीं मिलने दिया.

पुलिस अधीक्षक युसूफ कुरैशी के मुताबिक़ पुराने मामले में वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश मिलने के बाद जांच शुरू की गई थी. इसमें जीतू सोनी सहित एक अन्य पर धारा 306 के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है. आरोपियों की तलाश की जा रही है.