भोपाल
 सत्ता में आने के बाद से ही आर्थिक तंगी से जूझ रही कमलनाथ सरकार लगातार कर्ज ले रही है| अब एक बार फिर सरकार एक हजार करोड़ रुपए का कर्ज खुले बाजार से लेने जा रही है। इस कर्ज को मिलाकर सरकार विकास कार्यों के लिए ही एक साल में सरकार  21 हजार 810 करोड़ रुपए का कर्ज ले लेगी।

सूत्रों के मुताबिक किसानों की कर्जमाफी और विकास कार्यों के लिए सरकार को बड़ी राशि की जरूरत है। इसके लिए सरकार एक बार फिर खुले बाजार से कर्ज लेने जा रही है| 15 जनवरी को यह प्रक्रिया होगी। 15 दिन पहले ही प्रदेश सरकार ने बाजार से दो हजार करोड़ रुपए का लोन लिया था, अब फिर 1 हजार करोड़ रुपए की राशि लेने की तैयारी की जा रही है।

सरकार ने सालभर में 20 हजार 810 करोड़ का कर्ज लिया है| कर्ज लेने के लिए वित्त विभाग ने प्रदेश की वित्तीय स्थिति स्पष्ट की है, जिसमें खास यह है कि राज्य सरकार पर 31 मार्च 2019 की स्थिति में 1 लाख 80 हजार 988 करोड़ रुपए का कुल कर्ज है। बजट का 8.07 प्रतिशत यानी 12 हजार 867 करोड़ रुपए ब्याज का चुकाया जा रहा है।