शहडोल

कोटा के जेके लोन अस्पताल में सौ से ज्यादा बच्चों की मौत का मामला अभी ठंडा नहीं हुआ कि मप्र के शहडोल जिले के कुशाभाऊ ठाकरे जिला चिकित्सालय में 12 घंटे के भीतर 6 बच्चों  की मौत हो गई। बच्चों की मौत का कारण निमोनिया बताया जा रहा है। इनमें से दो बच्चे  स्पेशन न्यू बॉर्न केयर यूनिट (एसएनसीयू) में भर्ती थे और 4 बच्चे पीडियाट्रिक इंटेंसिव केयर यूनिट(पीआईसीयू ) में भर्ती थे। 13 जनवरी की शाम 6.50 बजे एसएनसीयू में भर्ती सुभाष बैगा नाम के बच्चे की मौत हुई। इसके बाद 7.30 पर एसएनसीयू में ही इलाजरत अंजली बैगा की मौत हो गई। पीआईसीयू में भर्ती जैतपुर विकासखंड के ग्राम खरेला में रहने वाली चौथ कुमारी की मौत 13 जनवरी को रात 10.50 पर हुई । वहीं एसएनसीयू में दूसरी बच्ची फूलमती सिंह निवासी जयसिंह नगर ग्राम भटगांव की भी मौत 7.50 पर हुई। यही नहीं श्याम नारायण कोल पिता नर्मद कोल ग्राम अमिलिया की मौत भी 3.30 पर होना बताया गया है चौथे बच्चे  सूरज बैगा पिता संतलाल बैगा निवासी ग्राम पनिया की मौत सुबह 6.00 बजे होना बताया गया है।