गुड़गांव

सेना या पुलिस के जवान अब आईकार्ड दिखाकर टोल प्लाजा पर फास्टैग लेन से नहीं गुजर सकेंगे। आर्मी, नेवी, एयरफोर्स और पुलिस का कोई जवान निजी वाहनों से टोल पार कर रहा है और गाड़ी पर फास्टैग नहीं लगवाया तो उन्हें कैश लेन से ही गुजरना पड़ेगा। नहीं तो दोगुना टोल देना होगा।

एनएचएआई की ओर से शेड्यूल-जी के तहत टोल संचालक कंपनी को गाइडलाइन भेजी गई है। इसमें कहा गया है कि अगर सेना के जवान ड्यूटी पर हैं और सरकारी वाहन में हैं तो उनसे टोल नहीं वसूला जाएगा, लेकिन इन वाहनों पर फास्टैग लगवाना होगा। फास्टैग शुरू होने से पहले सेना के जवान ऑफ ड्यूटी पर भी आईकार्ड दिखाकर अपने निजी वाहन से फ्री टोल क्रॉस करते थे, लेकिन बहुत सी जगह फर्जी आईकार्ड मिलने पर यह गाइडलाइन जारी की गई है।
 
खेड़कीदौला स्थित टोल संचालक कंपनी के अधिकारियों ने बताया कि इसके लिए एनएचएआई की ओर से गाइडलाइन जारी की गई है। अभी बहुत ही कम सरकारी वाहनों में टैग लगा है। वहीं, अब सेना व पुलिस के जवान आईकार्ड दिखाकर टोल नहीं पार कर पाएंगे। इन्हें अपने वाहनों में फास्टैग लगवाना होगा, नहीं लगवाते हैं तो कैश लेन से टोल चार्ज देकर जाना होगा।