नई दिल्ली

वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर ड्वेन ब्रावो ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास से वापसी की घोषणा की है. ब्रावो ने कहा है कि अब वह टी-20 टीम में चयन के लिए उपलब्ध हैं. ब्रावो ने 2018 में संन्यास की घोषणा की थी, लेकिन वह सितंबर 2016 के बाद वेस्टइंडीज के लिए नहीं खेले थे.

36 साल के ब्रावो ने एक बयान में कहा, 'आज मैं इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी की घोषणा करता हूं. इसमें कोई दो राय नहीं है कि मैंने प्रशासनिक सुधारों के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी का फैसला किया है. मैं चयनकर्ताओं को बता देना चाहता हूं कि मैं टी-20 क्रिकेट में चयन के लिए उपलब्ध हूं.'

ब्रावो ने बीते महीने संकेत दिए थे कि वह फिर से अपने देश के लिए खेलना चाहते हैं. ब्रावो ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट पर अफगान टीम पर वनडे सीरीज में वेस्टइंडीज को मिली 3-0 से जीत के लिए बधाई देते हुए यह बात कही थी.

ब्रावो ने वेस्टइंडीज के लिए 40 टेस्ट, 164 वनडे और 66 टी-20 मैच खेले हैं. सभी फॉर्मेट्स में ब्रावो ने 6310 रन बनाए हैं और 337 विकेट लिए हैं. ब्रावो अभी भी चेन्नई सुपर किंग्स, लाहौर कलंदर्स, मेलबर्न रेनेगेड्स, त्रिनबागो नाइट राइडर्स और विनिपेग हॉक्स के लिए टी-20 में खेल रहे हैं. हाल ही में ब्रावो टी-10 लीग में खेले थे, जिसका आयोजन अबु धाबी में हुआ था.

ब्रावो का खुलासा- इस वजह से वापसी की

ब्रावो ने कहा कि वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड की सत्ता में बदलाव के कारण उन्होंने मन बदला है. पूर्व टीम मैनेजर रिकी स्केरिट अब डेव कैमरन की जगह बोर्ड के नए अध्यक्ष बने हैं. ब्रावो ने एक बयान में कहा ,‘मैने यह फैसला प्रशासनिक स्तर पर बोर्ड में हुए बदलाव के बाद लिया है, मैं कुछ समय से इस बारे में सोच रहा था और सकारात्मक बदलावों ने मेरे फैसले को मजबूत किया.’

ब्रावो का कैमरन के साथ झगड़ा हुआ था, जिन पर उन्होंने करियर तबाह करने का आरोप लगाया था. यह 2014 में हुआ था जब ब्रावो की अगुवाई वाली वेस्टइंडीज टीम बोर्ड के साथ भुगतान विवाद के कारण भारत दौरा बीच में छोड़कर चली गई थी.