दिल्ली के रानी झांसी रोड पर अनाज मंडी स्थित एक फैक्ट्री में रविवार सुबह लगी भीषण आग ने मौत का तांडव मचाया है। चार मंजिला इमारत में लगी आग में जलकर और धुएं में दम घुटने से दर्जनों लोगों की मौत हो गई है।  अब तक 43 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हो चुकी है।

आग लगने पर लोगों के बीच घबराहट होना आम बात है लेकिन अगर ऐसे हादसों में कुछ बातों का ध्यान रखा जाए, तो हम कई जिंदगियों को बचा सकते हैं। आइए, जानते हैं आग लगने पर सुरक्षा के कुछ उपाय-

- आग लगने के बाद बिल्कुल भी पैनिक न हो। यदि धुआं है, तो अपना सिर नीचे रखें।यदि कोई भी सुरक्षा उपाय नहीं है तो अपना रूमाल पानी में भिगोएं और उसे अपनी नाक पर रख लें। यह कार्बन कणों को कुछ दूर करेगा, आप अच्छी तरह सांस ले सकेंगे।


- जैसे ही पता चले की आग लग गई है, तो जितना जल्दी हो सके वहां से निकलने की कोशिश करें।  कमरा धुएं से भर गया है, तो उस स्थिति में तुरंत खिड़कियां खोल दें।वहीं कोशिश करें आपका सर नीचे ही हो।


- वहीं अगर आपने ऐसे कपड़े पहने हैं जिन्हें आग जल्दी पकड़ सकती है तो उतार कर फेंक दें, ऐसी स्थिति में आपकी जान का बचना ज्यादा जरूरी है।


- आपको बता दें, यदि आग कपड़ों तक आ जाए तो जमीन पर लुढ़कर उसे बुझाने की कोशिश करें। चादर, कंबल या दूसरा बड़ा कपड़ा मिल जाए, तो उसे शरीर पर लपेट लें।


- यदि कोई व्यक्ति आग से झुलस गया हो तो उसे जमीन पर न लिटाएं। उसे कंबल या किसी भारी कपड़े में लपेटने की कोशिश करें।


- जैसे ही आपको आशंका हो कि आग लगने वाली है।तो उस स्थिति में सबसे पहले आपको फायर बिग्रेड और एम्बुलेंस को फोन करें।

 

आग लगने पर तुरंत बाहर चले जाएं। यदि बाहर नहीं जा सकते और कमरा धुएं से भर गया है, तो ताजी हवा के लिए तुरंत खिड़कियां खोल दें।

जितना धुआं आप की सांसों में जाएगा, उतनी ही स्थिति प्रतिकूल हो जाएगी।धुएं से अगर कोई बेहोश हो जाए तो यथाशीघ्र उसे हवादार जगह पर शिफ्ट कर दें।


हर व्यक्ति को बेसिक लाइफ सपोर्ट की ट्रेनिंग लेनी चाहिए। इस से आप विषम परिस्थितियों में भी लोगों की जान बचा सकते हैं।


आग लगने पर लिफ्ट का प्रयोग न करें।सीढि़यों से उतरने में ही सुरक्षा है।


अगर आग किसी ऊंची इमारत में लगी हो तो भूल से नीचे उतरने के लिए लिफ्ट का प्रयोग न करें। अगर आग सीढ़ियों तक न पहुंची हो, तो सीढियों से उतरने की कोशिश करें।