लखनऊ     
कांग्रेस महासचिव एवं यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी शुक्रवार को दो दिन के दौरे पर लखनऊ आ रही हैं। प्रदेश संगठन में बदलाव के बाद यह उनका पहला दौरा है। लिहाजा दिन भर मैराथन बैठकों का कार्यक्रम तय है। प्रदेश पदाधिकारियों से लेकर राष्ट्रीय सचिव और विभिन्न प्रकोष्ठों-विभागों के साथ वह संगठन के कामकाज और 14 दिसंबर को नयी दिल्ली में प्रस्तावित 'भारत बचाओ रैली' की तैयारियों की समीक्षा करेंगी।

प्रियंका गांधी सुबह एयरपोर्ट से सीधे पूर्व मंत्री दीपा कौल के गोखले मार्ग स्थित आवास पर जाएंगी। दीपा कौल पूर्व केन्द्रीय मंत्री शीला कौल की बेटी हैं जो स्व. इंदिरा गांधी की नजदीकी रिश्तेदार थीं। प्रियंका गांधी जब दो अक्तूबर को लखनऊ आईं थीं तब वह घर देखने गई थीं। उनकी सहमति मिलने के बाद आवास का रंगरोगन करा दिया गया है। पार्टी के दो राष्ट्रीय सचिवों ने गुरुवार को वहां जाकर वहां की व्यवस्थाओं का मुआयना भी किया।

वीवीआईपी के सामने भव्य स्वागत की तैयारी
एयरपोर्ट पर स्वागत के लिए प्रियंका गांधी पहले ही मना कर चुकी हैं। जिसके बाद वीवीआईपी के सामने उनके भव्य स्वागत की तैयारी की गई है। कार्यकर्ता यहां उनका स्वागत करेंगे। जिसके बाद वह प्रदेश कार्यालय आकर बैठकों की शुरूआत करेंगी। नई टीम के गठन के बाद उन्होंने रायबरेली में हुए प्रशिक्षण कार्यक्रम में नए पदाधिकारियों को कुछ लक्ष्य दिये थे, उस पर भी वह बात करेंगी।

प्रदेश कार्यालय पर दिन भर रही भारी भीड़
प्रियंका गांधी के आने से एक दिन पहले ही गुरुवार को पार्टी कार्यालय में दिन भर चहल पहल रही। कार्यकर्ता अपनी नेता का कार्यक्रम पूछते रहे। प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू दिन भर बैठक करते रहें। सीआरपीएफ और यूपी पूलिस भी प्रदेशीय नेताओं से ब्यौरा जुटाती दिखीं। प्रदेश पदाधिकारियों से शुक्रवार की सुबह तक लखनऊ पहुंचने के लिए कहा गया है। कार्यकर्ताओं-नेताओं को भी प्रदेश अध्यक्ष ने दिलासा दी है कि अलग से उनके बीच भी राष्ट्रीय महासचिव का संबोधन कराया जाएगा।