नई दिल्ली 
दिल्ली में गुरुवार (5 दिसंबर) को एक स्कूल के मिड डे मील से मरा चूहा मिलने से हड़कंप मच गया। गनीमत रही कि इसे बच्चों को परोसने से पहले प्रिंसिपल ने पकड़ लिया नहीं तो सैकड़ों बच्चे बीमार पड़ सकते थे। स्कूल में 500 बच्चे पढ़ते हैं।

इस संबंध में मध्य दिल्ली के नबी करीम स्थित एसडी हरि मंदिर बालिका उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के स्कूल प्रमुख ने आपूर्ति करने वाली एजेंसी की लिखित शिकायत दिल्ल के शिक्षा निदेशालय को दी है। स्कूल शिक्षा निदेशालय से वित्त पोषित है। खबर लिखे जाने तक मिड डे मील की सप्लाई करने वाले पर कार्रवाई नहीं हुई थी।

काफी समय से खराब खाना आ रहा था : स्कूल प्रमुख की तरफ से दी गई शिकायत के अनुसार, लंबे समय से स्कूल में भेजे जा रहे मिड डे मील की गुणवत्ता ठीक नहीं थी। इस संबंध में मंगलवार को भी शिकायत की गई। इसके बाद रोजाना की तरह गुरुवार को मिड डे मील की आपूर्ति की गई। घोषित कार्यक्रम के तहत नमकीन दलिया और हलवा की आपूर्ति हुई। स्कूल में मिड डे मील आते ही दोनों कंटेनर खोले गए, तो नमकीन दलिया के कंटेनर से मरा चूहा मिला। तत्काल आपूर्ति करने वाले ठेकेदार को फोन से कर इसकी सूचना दी गई और खाने की जांच के लिए कहा गया।

दूसरे स्कूलों में भी सप्लाई होती है : स्कूल प्रमुख ने दी शिकायत में कहा कि एजेंसी इस स्कूल समेत अन्य स्कूलों में मिड डे मील की आपूर्ति करती है। कई स्कूलों में गुरुवार को भी आपूर्ति एजेंसी की तरफ से की गई है। इस बात को ध्यान में रखते हुए तत्काल आवश्यक कार्रवाई की जाए। स्कूल के अनुसार, मरा हुआ चूहा मिलने की घटना होने के बाद स्कूल ने एजेंसी से आपूर्ति लेने से मना कर दिया है और इस संबंध में उच्चाधिकारियों को सूचित कर दिया है।