थरथरी (नालंदा                                                                                                                                          
थरथरी में बुधवार को 10 हजार रुपये घूस लेते आवास सहायक रंगेहाथ पकड़ा गया। निगरानी विभाग की टीम ने दबोचा। सहायक ने पीएम आवास योजना के लाभुक से तीसरी किस्त का भुगतान करने के बदले 10 हजार रुपये मांगे थे। निगरानी की टीम ने प्रखंड कार्यालय के गेट के पास से अमेरा पंचायत के आवास सहायक विकास कुमार को गिरफ्तार कर लिया। भतहर गांव निवासी लाभुक कमलेश प्रसाद ने निगरानी में शिकायत की थी।

निगरानी के डीएसपी सर्वेश कुमार सिंह ने बताया कि कमलेश की शिकायत के बाद आरोपों की जांच करायी गयी। जांच में आरोप सही पाया गया। इसके बाद उनके नेतृत्व में धावा दल का गठन कर छापेमारी की गयी। छापेमारी में आवास सहायक को रुपये लेते रंगेहाथ पकड़ा गया। पूछताछ के बाद उन्हें निगरानी के स्पेशल कोर्ट में पेश किया जाएगा।

छापेमारी की जानकारी होते ही मची अफरातफरी 
छापेमारी होने के थोड़ी देर बाद ही प्रखंड कार्यालय में पैक्स चुनाव से संबंधित बैठक होने वाली थी। सभी आवास सहायक बैठक में शामिल होने के लिए प्रखंड कार्यालय के बाहर खड़े थे। इसी दौरान कमलेश घूस की राशि देने के लिए आवास सहायक को गेट के पास लेकर आया और उसे रुपये दे दिये। आवास सहायक के रुपये जेब में रखते ही पास में खड़ी निगरानी की टीम ने उन्हें दबोच लिया। छापेमारी की जानकारी मिलते ही कार्यालय में अफरातफरी मच गयी। 

थरथरी में पहले भी दो अधिकारियों पर हुई है कार्रवाई:
प्रखंड में पहले भी दो अधिकारी निगरानी के हत्थे चढ़ चुके हैं। तत्कालीन बीईओ वीरेन्द्र कुमार को शिक्षक से घूस लेते निगरानी ने हिलसा से दबोचा था। दूसरी कार्रवाई कचहरिया पंचायत के राजस्व कर्मचारी केदार प्रसाद यादव के खिलाफ हुई थी। उन्हें भी निगरानी ने घूसे लेते पकड़ा था। स्थानीय लोगों की माने तो कार्रवाई के बाद भी कर्मी घूस लेने से बाज नहीं आ रहे हैं।