पटना 
राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की एमपी एमएलए कोर्ट में सोमवार को पेशी होनी है। कोर्ट ने मानहानि के एक अपराधिक मामले में पेशी के लिए लालू प्रसाद यादव के खिलाफ प्रोडक्शन वारंट जारी किया है। 

एमपी एमएलए कोर्ट के विशेष न्यायाधीश राजीव नयन ने पेशी के लिए प्रोडक्शन वारंट जारी किया था। लालू प्रसाद यादव अभी चारा घोटाले के मामले में रांची के बिरसा मुंडा जेल में न्यायिक हिरासत के तहत हैं। पटना एमपी एमएलए कोर्ट में चल रहे मानहानि के आपराधिक मुकदमे की सुनवाई उनकी उपस्थिति के लिए लंबित चल रही है। इस मामले के परिवादी भागलपुर निवासी एक रिटायर अधिकारी उदय कांत मिश्रा हैं। उन्होंने लालू प्रसाद यादव पर वर्ष 2017 में एक परिवाद मुकदमा दायर किया था। 

इसमें आरोप लगाया है कि भागलपुर की एक सार्वजनिक सभा में लालू प्रसाद ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जब भी आते हैं उन्हीं के घर ठहरते हैं। उन्होंने अरबों रुपए के सृजन घोटाले के मामले में उनको बदनाम करने की बात कही है। उन्होंने कहा था कि वादी सृजन घोटाला के आरोपितों का संरक्षक है। इस मानहानि के मुकदमे में कोर्ट ने गवाहों के बयान और उपलब्ध साक्ष्य के आधार पर राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के खिलाफ मानहानि का संज्ञान लिया है।