इस्‍लामाबाद
पाकिस्‍तान ने सोमवार को सतह से सतह तक मार करने में सक्षम शाहीन-1 मिसाइल का सफल परिक्षण किया। परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम इस मिसाइल की मारक क्षमता 650 किलोमीटर है। पाकिस्‍तानी सेना के प्रवक्‍ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। सेना प्रवक्‍ता ने बताया कि इस मिसाइल का परीक्षण पाकिस्‍तानी सेना के स्ट्रैटिजिक फोर्सेज कमांड ने किया है। इस मिसाइल को हत्‍फ-4 के नाम से भी जाना जाता है।

गफूर ने मिसाइल का एक विडियो पोस्‍ट कर कहा कि इस मिसाइल के परीक्षण का उद्देश्‍य पाकिस्‍तानी सेना के रणनीतिक कमांड की ऑपरेशनल तैयारियों को परखना था। उन्‍होंने कहा कि इसके जरिए पाकिस्‍तान की विश्‍वसनीय न्‍यूनतम प्रतिरोध क्षमता को जांचा गया है। पाकिस्‍तान की इस मिसाइल के दायरे में भारत के लगभग सभी इलाके आएंगे। पाकिस्‍तान ने यह मिसाइल परीक्षण कहां किया है, यह अभी स्‍पष्‍ट नहीं है।

अगस्‍त में गजनवी मिसाइल का किया था परीक्षण
इससे पहले पाकिस्‍तान ने अगस्‍त महीने में गजनवी मिसाइल का परीक्षण किया था। बता दें कि दो दिन पहले ही भारत ने 2,000 किलोमीटर तक की रेंज में दुश्मन को मार गिराने में सक्षम अग्नि-2 बलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण किया था। न्यूक्लियर हथियारों को ले जाने में सक्षम इस मिसाइल का परीक्षण रात के समय किया गया। इस मिसाइल का पिछले साल ही परीक्षण किया था, लेकिन पहली बार इसे रात में लॉन्च किया गया है।

न्यूक्लियर हथियारों को ले जाने में सक्षम इस मिसाइल की रेंज को जरूरत पर 3,000 किलोमीटर तक बढ़ाया जा सकता है। यह पहला मौका है, जब भारत ने रात के वक्त किसी मिसाइल का परीक्षण किया है। स्ट्रैटिजिक फोर्सेज कमांड ने यह परीक्षण ओडिशा के एपीजे अब्दुल कलाम द्वीप पर किया। भारत के रक्षा बेड़े में इस मिसाइल के शामिल होने से सुरक्षा को नए आयाम हासिल हुए हैं।