नई दिल्ली 
कांग्रेस ने शनिवार को घोषणा की कि केन्द्र सरकार की जन-विरोधी नीतियों के खिलाफ जिला-स्तर और राज्य-स्तर पर उसके आंदोलनों का समापन 30 नवंबर को रामलीला मैदान में एक विशाल रैली के साथ होगा।

पार्टी ने पांच नवंबर से 15 नवंबर देश के विभिन्न हिस्सों में आंदोलन करने की योजना बनाई थी। इस दौरान कांग्रेस ने केन्द्र की भाजपा नीत सरकार की विफलताओं को उजागर करने के लिए विरोध-प्रदर्शन किया।

कांग्रेस महासचिव के.सी. वेणुगोपाल ने पत्रकारों से कहा कि आज हमने फैसला किया है कि जिला और राज्य स्तरों पर आंदोलनों को 25 नवंबर से पहले पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमने दिल्ली के रामलीला मैदान में 30 नवंबर को केन्द्र सरकार की जन-विरोधी नीतियों के खिलाफ एक विशाल रैली करने का फैसला लिया है। बैठक में इस रैली को 'भारत बचाओ रैली' नाम दिए जाने का भी निर्णय किया गया क्योंकि लोग बहुत ज्यादा दुखी हैं।

कांग्रेस ने अपने महासचिवों, विभागों के प्रमुखों, राज्य इकाई के प्रमुखों और सीएलपी नेताओं के साथ शनिवार को बैठक की। वेणुगोपाल ने कहा कि केन्द्र सरकार की जन-विरोधी नीतियों विशेषकर आर्थिक सुस्ती, किसानों के संकट, बेरोजगारी और अन्य मुद्दों के खिलाफ आंदोलन कार्यक्रम पर चर्चा के लिए बैठक बुलाई गई थी।