ग्वालियर
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की पूजा कर उसके फांसी वाले दिन को बलिदान दिवस के रूप में मनाने वाले हिन्दू महासभा के कार्यकर्ता के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया है।

हिन्दू महासभा द्वारा नाथूराम गोडसे की पूजा करना और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के खिलाफ अपशब्दों का प्रयोग कर उनके खिलाफ अनर्गल बातें लिखना उनके लिए अब मुसीबत बन सकता है। क्योकि उनके इस कृत्य की एक एक व्यक्ति ने पुलिस में शिकायत की है। दरअसल कांग्रेस कमेटी के सचिव रविन्द्र सिंह चौहान ने कोतवाली थाने में शिकायती आवेदन देते हुए कहा कि 14 नवंबर को शाम 4 बजे जब मैं दौलतगंज से गुजर रहा था तब हिन्दू महासभा कार्यालय के नीचे उनका कार्यकर्ता नरेश बाथम कुछ पर्चे बांट रहा था। एक पर्चा मेरे हाथ में भी आया जिसमें राष्ट्रपिता के बारे में अनर्गल बाते लिखी थी। पर्चे में गांधी जिनको देशद्रोही और उनके हत्यारे को सबसे बड़े देशभक्त बताया गया था।

इतना ही नहीं गांधी जी को विभाजन के लिए भी जिम्मेदार बताकर उनके खिलाफ भ्रामक बातें कहीं गई जिसने मुझ जैसे देशभक्त की भावनाओ को ठेस पहुंचाई है। इसलिए नरेश बाथम और उसके साथियों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाये। पुलिस ने शिकायती आवेदन के बाद नरेश बाथम और उसके साथियों के खिलाफ धारा 154 के तहत मामला पंजीबद्ध कर लिया है। और आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

गौरतलब है कि हिन्दू महासभा ने कल 14 नवम्बर को गांधी जिनके हत्यारे नाथूराम गोडसे की अपने कार्यालय में पूजा की थी और उसके फांसी वाले दिन को बलिदान दिवस बताते हुए गोडसे को पाठ्यक्रम में शामिल करने की मांग की थी।यहाँ अपने संबोधनों में पार्टी पदाधिकारियों ने भी राष्ट्रपिता के बारे में अनर्गल और अपमानजनक टिप्पणियाँ की थी।