इंदौर
देश के शहरों में साफ-सफाई (Cleanliness Drive) में लगातार तीन बार से नंबर-1 के स्थान पर काबिज इंदौर (Indore) स्वच्छता को लेकर कितना गंभीर है, इसका नजारा यहां के होल्कर स्टेडियम (Holkar Stadium) में चल रहे भारत-बांग्लादेश टेस्ट मैच (India-Bangladesh Test Match) में देखने को मिल रहा है. क्रिकेट मैच को लेकर देश-विदेश के खेलप्रेमी इंदौर पहुंचे हैं. इस दौरान शहर की साफ-सफाई बनाए रखने और मैच के बाद भी शहर को स्वच्छ रखने के लिए इंदौर नगर निगम (Indore Municipal Corporation) ने पहले से इंतजाम कर रखा है. मैच के दौरान स्टेडियम साफ-सुथरा दिखे, इसके लिए निगम ने विशेष योजना बनाई है. इसके तहत स्टेडियम में मैच के दौरान जमा हुए कचरे का यहीं पर निपटान (Waste Management) किया जा रहा है. निगम ने पूरे स्टेडियम में 200 से ज्यादा डस्टबिन रखे हुए हैं, ताकि बाहर से आए लोगों को कहीं पर भी कचरा न दिखे.

इंदौर नगर निगम ने क्रिकेट मैच के दौरान स्टेडियम में गंदगी न दिखे, इसके लिए विशेष योजना बनाई है. निगम ने 3R- रिड्यूस, रियूज और रिसाइकल फॉर्मूले के तहत स्टेडियम से निकलने वाले कचरे के निपटान का इंतजाम किया है. नगर निगम की मंशा है कि इंदौर में होने वाले क्रिकेट मैच जैसे इवेंट को भी लोग जीरो वेस्ट इवेंट के तौर पर याद रखें. इसके लिए निगम ने जगह-जगह 'सफाई में चौका लगाएंगे' लिखे पोस्टर लगा रखे हैं. साथ ही निगमकर्मी स्टेडियम आने वाले क्रिकेट प्रेमियों को स्वच्छता के प्रति जागरूक भी कर रहे हैं. इस कारण मैच के दौरान भी स्टेडियम में कचरा इधर-उधर नहीं, बल्कि निर्धारित जगहों पर ही फेंका जा रहा है. दरअसल, एक महीने बाद ही स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 की टीम इंदौर आने वाली है. ऐसे में निगम की सोच है कि क्रिकेट मैच के बावजूद इंदौर सफाई में पिछड़ न जाए, इसलिए स्वच्छता के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं.

भारत-बांग्लादेश टेस्ट मैच के तीसरे दिन मैच देखने दिव्यांग बच्चों के साथ पाकिस्तान से भारत आई गीता भी होल्कर स्टेडियम पहुंची. गीता ने होल्कर स्टेडियम में मूक-बधिर बच्चों के साथ मैच का आनंद लिया. हालांकि स्टेडियम में प्रवेश के वक्त टिकट में बार कोड की दिक्कत से सुरक्षाकर्मियों ने गीता को कुछ देर के लिए गेट पर ही रोक लिया था. लेकिन बाद में सुरक्षा अधिकारी द्वारा पूरी तरह जांच-पड़ताल के बाद गीता को स्टेडियम में जाने दिया गया.