इंदौर
भारतीय क्रिकेट टीम ने मयंक अग्रवाल के धमाकेदार दोहरे शतक के बाद गेंदबाजों के बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत बांग्लादेश को इंदौर टेस्ट में पारी और 130 रनों से हरा दिया। इसके साथ ही उसने सीरीज में 1-0 की महत्वपूर्ण बढ़त ले ली है। बांग्लादेश की टीम दोनों ही पारियों में भारतीय गेंदबाजों के सामने संघर्ष करते नजर आई और बड़ा स्कोर नहीं बनाने में असफल रही। मुशफिकुर रहीम (64) ने जुझारू अर्धशतक जरूर लगाया, लेकिन टीम को हार से नहीं बचा सके। (यहां क्लिक कर देखें मैच का स्कोरकार्ड)

मैच में टॉस जीतकर पहले बैटिंग करने उतरी मेहमान टीम ने पहली पारी में 150 रन बनाए थे। इसके बाद भारतीय टीम ने अपनी पहली पारी 6 विकेट पर 493 रन पर घोषित की। जिसकी वजह से उसके पास 343 रनों की बड़ी बढ़त हासिल थी। इसके बाद तीसरे दिन टीम इंडिया ने बांग्लादेश टीम की दूसरी पारी 69.2 ओवरों में सभी विकेट खोकर महज 213 रनों पर समेट दी। इस तरह उसने इंदौर टेस्ट पारी और 130 रनों से अपने नाम कर लिया। भारत के लिए पहली पारी में 3 विकेट लेने वाले मोहम्मद शमी ने दूसरी पारी में 4 विकेट झटके, जबकि आर. अश्विन ने 3 विकेट लिए। उमेश को दो और इशांत को एक विकेट मिला।

बांग्लादेश की दूसरी पारी में भी खराब शुरुआत
इससे पहले मोहम्मद शमी की अगुवाई में तेज गेंदबाजों ने बांग्लादेश के शीर्ष क्रम झकझोर कर तीसरे दिन सुबह में ही भारत की जीत सुनिश्चत कर दी थी। पहली पारी में 343 रन से पिछड़ने के बाद बांग्लादेश की दूसरी पारी की शुरुआत भी बेहद खराब रही। भारतीय तेज गेंदबाजों उमेश यादव, इशांत शर्मा और मोहम्मद शमी ने बांग्लादेशी बल्लेबाजों को शुरू से दबाव में रखा। उमेश ने बेहतरीन आउटस्विंगर (बाएं हाथ के बल्लेबाज के लिए इनस्विंगर) पर इमुरुल कायेस (छह) को बोल्ड किया। कायेस शुरू से ही संघर्ष करते हुए नजर आए और उमेश ने जल्द ही उनका लेग स्टंप भी उखाड़ दिया।

यूं आउट हुए बल्लेबाज
युवा शादमन इस्लाम (6) को इशांत ने अपनी तेजी और मूवमेंट से लगातार परेशान किया और उनकी एक गेंद ने जल्द ही इस बल्लेबाज के मिडिल स्टंप से गिल्ली हवा में उड़ा दी। बांग्लादेश की उम्मीद कप्तान मोमिनुल हक (सात) शमी की कोण लेती गेंद पर पगबाधा आउट हुए। हालांकि इसके लिए भारतीय कप्तान विराट कोहली को डीआरएस लेना पड़ा था। शमी ने इसके बाद मोहम्मद मिथुन (18) को भी शॉर्ट पिच गेंद पर पविलियन भेजा। टीम संभलपाती इससे पहले ही शमी ने महमुदुल्लाह को रोहित के हाथों कैच करा दिया। वह 15 रन बनाकर आउट हुए, जबकि 35 रन बनाकर वाले लिटन दास को आर. अश्विन को पविलियन भेजा।

रहीम और हसन ने जोड़े 59 रन
लिटन दास और मुशफिकुर के बीच 63 रनों की साझेदारी हुई थी। इसके बाद मुशफिकुर रहीम और मेहदी हसन ने 7वें विकेट के लिए 59 रनों की साझेदारी करते हुए भारतीय गेंदबाजों को थोड़ा परेशान किया। इसी बीच उमेश यादव की एक सीधी रहती गेंद मेहदी हसन की कोहनी से लगती हुई स्टंप पर जा लगी। वह बोल्ड आउट हो गए। उन्होंने 55 गेंदों में 5 चौके और एक छक्का की मदद से 38 रन बनाए। तैजुल इस्लाम (6) को आउट करते हुए शमी ने अपना चौथा विकेट लिया।

इसके बाद 64 रन की जूझारी पारी खेलने वाले मुशफिकुर रहीम और इबादत हुसैन (1) को आर. अश्विन ने चलत करते हुए टीम इंडिया की जीत सुनिश्चत कर दी।