iPhones की सिक्यॉरिटी के लिए ऐपल खास फीचर लाने वाला है। कंपनी इस फीचर को iOS 13.3 के साथ रोलआउट करने वाली है। बता दें कि अभी आईफोन्स लेटेस्ट आईओएस 13.2.2 पर चलते हैं। बताया जा रहा है कि कंपनी अपडेटेड ऑपरेटिंग सिस्टम को इस साल के खत्म होने से पहले रोलआउट कर देगी। आइए जानते हैं क्या है यह नया फीचर।

रिलीज नोट में दिए डीटेल
सिक्यॉरिटी की मजबूत बनाने के लिए ऐपल इस ओएस के साथ Lightning FIDO2 सिक्यॉरिटी की (Key) सपॉर्ट देने वाला है। यह फीचर आईओएस 13.3 के सेकंड बीटा डिवेलपर वर्जन में मौजूद था। Macrumours की एक रिपोर्ट के मुताबिक यह फीचर पहले बीटा वर्जन में तो था ही, लेकिन इसके बारे में कंपनी ने रिलीज नोट में और डीटेल दे दिए हैं।

डिवाइस में होना चाहिए जरूरी हार्डवेयर
रिलीज नोट के मुताबिक यह सफारी, SFSafariViewController और ASWebAuthenticationSession में NFC, USB और Lightning FIDO2 सिक्यॉरिटी की को सपॉर्ट करता है। इन फीचर्स को सही ढंग से इस्तेमाल करने के लिए डिवाइस में जरूरी हार्डवेयर भी होना चाहिए। इसका मतलब यह हुआ कि आईओएस 13.3 के साथ आईफोन के सफारी ब्राउजर अब फिजिकल सिक्यॉरिटी की जैसे लाइटनिंग पर आधारित YubiKey को भी सपॉर्ट करेगा।


क्या है फिजिकल सिक्यॉरिटी की और कैसे काम करता है?
आसान भाषा में समझें तो फिजिकल सिक्यॉरिटी की हार्डवेयर का टुकड़ा होते हैं जिसे कंप्यूटर में प्लग करके यूजर को वेरिफाइ किया जाता है। इसे 2-फैक्टर ऑथेंटिकेशन से भी सिक्यॉर माना जाता है। हालांकि, अभी कई ऐसी सर्विस हैं जहां 2-फैक्टर ऑथेंटिकेशन का ही इस्तेमाल होता है।


मैक के लिए हो चुका है रोलआउट
आईफोन में इस फीचर के आने के बाद सफारी ब्राउजर भी इसे सपॉर्ट करेगा। इसका फायदा यह होगा कि आप इसे डिवाइस में प्लग और लॉगइन कर अलग-अलग सर्विस और ऐप को इस्तेमाल कर सकेंगे। macOS Catalina के साथ सितंबर में ही मैक सफारी के लिए रोलआउट कर दिया गया था।कंपनी आईओएस 13.3 और इस खास सिक्यॉरिटी फीचर को सभी यूजर्स के लिए रोलआउट करेगा या कुछ चुनिंदा यूजर्स के लिए इस बारे में अभी पक्के तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता।