सुकमा
सुकमा में एक बार फिर गुरुवार को नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हो गई। नक्सलियों ने खाने का सामान लूटने के लिए भेज्जी क्षेत्र में ग्रामीणों की गाड़ियां रोक ली थी। इसके चलते सड़क पर जाम लग गया। सूचना मिलने पर डीआरजी के जवान रास्ता खुलवाने के लिए पहुंचे थे, इसी दौरान नक्सलियों ने एंबुश लगाकर फायरिंग शुरू कर दी। इस पर जवानों की ओर से भी जवाबी कार्रवाई की गई। जवानों को भारी पड़ता देख नक्सली वहां से भाग निकले। एसपी शलभ सिन्हा ने घटना की पुष्टि की है।

भेज्जी क्षेत्र में इंजरम-भेज्जी मार्ग पर एटेगट्टा के पास गुरुवार सुबह नक्सलियों ने ग्रामीणों की खाने के सामान से भरी गाड़ियां रुकवा ली। इनमें फल और सब्जी के साथ ही दूध, अंडे व राशन का अन्य सामान था। धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र में मार्ग पर जाम होने की सूचना मिलने पर बाइक सवार चार डीआरजी के जवान मौके पर पहुंचे। इसी दौरान एंबुश लगाए हुए नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाब में जवानों ने भी गोलियां चलाईं। थोड़ी देर चली फायरिंग के बाद नक्सली वहां से भाग निकले।

बताया जा रहा है कि नक्सली राशन चोरी करने की फिराक में थे। इसी के चलते नक्सलियों ने भेज्जी जा रहे ग्रामीणों की गाड़ी रोकी थी। सभी ग्रामीण कोंटा साप्ताहिक बाजार से खरीदी कर अपने गांव लौट रहे थे। इससे पहले भी बुधवार को भेज्जी क्षेत्र के ही गच्छनपल्ली इलाके में सुरक्षा बलों के साथ हुई मुठभेड़ में एक वर्दीधारी नक्सली मारा गया था। घटनास्थल की सर्चिंग के बाद जवानों ने मौके से एक भरमार बंदूक समेत भारी मात्रा में विस्फोटक सामग्री और अन्य सामान बरामद किया था।