पटना 
हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा (सेक्यूलर) ने महागठबंधन से अलग होने का निर्णय ले लिया है। हम ने झारखंड व बिहार में अकेले दम पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया। जीतन राम मांझी ने बिहार में 2020 के विधानसभा चुनाव में स्वतंत्र रुप से चुनाव लड़ने की घोषणा की। उन्होंने महागठबंधन में समन्वय समिति नहीं होने एवं सर्वसम्मति से निर्णय नहीं होने का आरोप लगाया। 

गुरुवार को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व सीएम जीतनराम मांझी के 12 एम. स्ट्रैंड रोड स्थित आवास पर आयोजित पार्टी के सभी जिला अध्यक्षों, राज्य एवं केंद्रीय कार्यकारिणी की बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक में पार्टी ने झारखंड विधानसभा चुनाव अकेले लड़ने और उम्मीदवारों के चयन की घोषणा 10 नवंबर तक करने का निर्णय लिया। साथ ही, इस चुनाव को लेकर आगे की रणनीति तय करने के लिए पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव डॉ. संतोष कुमार सुमन को अधिकृत कर दिया। 

बैठक में पार्टी के बूथ स्तर पर कमेटी बनाने के साथ ही एनआरसी के मुद्दे को लेकर दलित- मुस्लिम एकता मजबूत करने का भी निर्णय लिया गया। दलित-मुस्लिम एकता मजबूत करने को लेकर कार्यवाही तय करने के लिए श्री मांझी को अधिकृत किया गया।