नई दिल्ली
राम मंदिर आंदोलन के रथयात्री रहे और पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी का आज 92वां जन्मदिन है। बीजेपी के लौह पुरुष कहे जाने वाले दिग्गज नेता को बधाई देने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी उनके आवास पर पहुंचे। उनके साथ इस मौके पर बीजेपी चीफ अमित शाह, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू और बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा भी मौजूद थे।

इससे पहले पीएम मोदी ने ट्वीट कर उन्हें स्कॉलर, स्टेट्समैन और देश के सबसे सम्मानित नेताओं में से एक बताया। पीएम मोदी ने एक बाद एक तीन ट्वीट में आडवाणी की सराहना करते हुए लिखा, 'नागरिकों को सशक्त करने के लिए लाल कृष्ण आडवाणी जी के योगदान को भारत हमेशा याद रखेगा। मैं जन्मदिन पर उन्हें शुभकामनाएं देता हूं और उनके दीर्घायु होने की प्रार्थना करता हूं।'

आडवाणी जैसे नेताओं के चलते ही ऊंचाई पर बीजेपी
प्रधानमंत्री ने बीजेपी को मजबूत करने में आडवाणी के योगदान को याद करते हुए कहा, 'उन्होंने दशकों तक बीजेपी को विस्तार और आकार देने में अपनी भूमिका अदा की। बीते कुछ सालों में हमारी पार्टी देश में अहम भूमिका में आई है तो इसके पीछे आडवाणी जी जैसे नेताओं और उनकी ओर से तैयार किए गए लाखों निस्वार्थ कार्यकर्ताओं का योगदान है।'

मोदी बोले, लोकतंत्र की रक्षा में हमेशा रहे आडवाणी
पीएम मोदी ने कहा कि आडवाणी जी ने जनसेवा करते हुए हमेशा मूल्यों का ध्यान रखा। अपनी मूल विचारधारा से उन्होंने कभी भी समझौता नहीं किया। लोकतंत्र की रक्षा की जब भी बात आई तो वह पहली कतार में रहे। एक मंत्री, एक प्रशासक के तौर पर उनके योगदान को हर जगह सराहा गया।

मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी दी बधाई
पीएम मोदी के अलावा मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी लाल कृष्ण आडवाणी को बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट किया, 'राजनीति में शुचिता और सेवा के प्रतीक, हमारे मार्गदर्शक और प्रेरणा के स्रोत, लालकृष्ण आडवाणी जी को जन्मदिन की हार्दिक बधाई। ईश्वर आपको स्वस्थ और सुदीर्घ जीवन दें। आपका स्नेह व आशीर्वाद सदैव हम पर बना रहे। आपके चरणों में प्रणाम और जन्मदिन पर अनंत शुभकामनाएं।'

अयोध्या पर आने वाला है फैसला, रथयात्री थे आडवाणी
1990 में रामजन्मभूमि आंदोलन के तहत सोमनाथ से अयोध्या तक की रथयात्रा निकालने वाले लालकृष्ण आडवाणी पूरे मूवमेंट का अहम चेहरा थे। दिलचस्प तथ्य है कि उनके जन्मदिन के कुछ दिन बाद ही अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला भी आ सकता है। सुषमा स्वराज, उमा भारती, शिवराज सिंह चौहान, अनंत कुमार, अरुण जेटली और अन्य तमाम दिग्गज नेताओं के मेंटर रहे लाल कृष्ण आडवाणी वाजपेयी सरकार में उपप्रधानमंत्री थे।