बिलासपुर
भारतीय रेलवे को एसईसीएल ने सीएसआर मद से 128.58 करोड़ रुपये देने का निर्णय लिया है। इस राशि से देश के आठ रेलवे जोन के 529 रेलवे स्टेशनों में प्री-फेब्रिकेटेड टॉयलेट का निर्माण किया जायेगा। एसईसीएल और दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बीच इसे लेकर एमओयू पर हस्ताक्षर गुरुवार को हुआ।

एमओयू के अनुसार आठ रेलवे जोन, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे, मध्य रेलवे, उत्तर मध्य रेलवे, पश्चिम मध्य रेलवे, पश्चिम रेलवे, पूर्व मध्य रेलवे, दक्षिण मध्य रेलवे और पूर्वी तट रेलवे जोन में ऐसे 529 टायलेट बनाए जाएंगे, जो प्री-फेब्रिकेटेड होंगे। सभी टॉयलेट रेलवे स्टेशन से लगे परिसर में बनाये जाएंगे। रेलवे की किसी मानक एजेंसी के जरिये यह काम कराएगी।

एमओयू पर एसईसीएल की ओर से कार्मिक एवं सीएसआर महाप्रबंधक एके पाढ़ी और रेलवे की ओर से एसईसीआर के चीफ इंजीनियर प्रदीप कुमार ने हस्ताक्षर किये। इस दौरान एसईसीआर से डिप्टी चीफ इंजीनियर पीई गवरैया, डीजीएम साकेत रंजन तथा सीनियर पीआरओ संतोष कुमार उपस्थित थे। एसईसीएल की ओर से सिविल के वरिष्ठ प्रबंधक सीके पाठक, जनसम्पर्क के उप प्रबंधक मिलिंद चहांदे तथा सीएसआर के सहायक प्रबंधक संपत गेलम उपस्थित थे।