रायपुर
सावरकर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बयान का पुरजोर समर्थन करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि सावरकर मामले में अब भाजपा का दोहरा चरित्र और भाजपा की गांधीवाद विरोधी विचारधारा बेनकाब हो गयी है। एक ओर गांधी की 150वीं जयंती पर भाजपा पदयात्रायें निकाल रही है। दूसरी ओर उस सावरकर को भारतरत्न देने की बात कर रही है जो राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या की साजिश में  शामिल थे। महात्मा गांधी की हत्या की साजिश की जांच के लिये बनाया गया कपूर कमीशन इस निष्कर्ष पर पहुंचा।

महात्मा गांधी जी की हत्या के परिपेक्ष्य में कपूर कमीशन ने ये बात कही थी। महात्मा गांधी जी की 150वीं जयंती पर, अगर भाजपा सरकार गांधी जी की हत्या के आरोपी रहे और कपूर कमीशन की फाइडिंग्स के अनुसार महात्मा गांधी जी की हत्या के षड?ंत्र में शामिल सावरकर को भारतरत्न देने पर विचार करती है, तो यह बेहद दुखद और भाजपा की गांधीवाद विरोधी सोच का जीताजागता सबूत है। ऐसे शख्स को गांधी जी की 150वीं जयंती पर भारतरत्न देने की बात करना अनुचित है। सावरकर को भारतरत्न देने की बात करना बहुत सुनियोजित और सोची समझी साजिश है। जिसके तहत एक तरफ महात्मा गांधी की प्रशंसा की जा रही है और दूसरी तरफ सावरकर को भारतरत्न देने की बात हो रही है। सावरकर को भारतरत्न देने के लिये गांधीजी की हत्या को आत्महत्या बताया जा रहा है। सावरकर पर महात्मा गांधी की हत्या को लेकर फौजदारी का मुकदमा चला था, हालांकि बाद में वह बरी हो गए थे। गांधी की हत्या को लेकर बाद में कपूर आयोग गठित किया गया।

भारत सरकार द्वारा बनाया गया कपूर आयोग इस निष्कर्ष पर पहुंचा था कि गांधी की हत्या की साजिश में सावरकर और उनका समूह शामिल रहा है। कपूर आयोग की निष्कर्ष को देखते हुयेयह सम्मान सावरकर को देने की बात करना भी राष्ट्रपिता का अपमान है। एक ओर सावरकर को भारतरत्न देने की बात करना और दूसरी ओर महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर पदयात्रायें आयोजित करना भाजपा के दोहरे चरित्र को उजागर करता है। भारतीय जनता पार्टी की महाराष्ट्र इकाई ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में सावरकर को भारत रत्न देने की बात की है।