फेस्टिव सीजन या शादी के लिए अगर आप भी जूलरी खरीदने की तैयारी में हैं तो पहले से तैयारी कर लें। चाहे आपको कैजुअल खरीददारी करनी हो या ट्रडिशनल वही खरीदें जो आपके स्टाइल को सूट करे। यहां हैं कुछ काम के टिप्स...

शुद्धता परखेंजूलरी में BIS का हालमार्क जरूर देखें। BIS लोगो का मतलब है कि यह लेबोरेटरी से वेरीफाइड है। इसका कैरट चेक करें यह KT से दर्शाया गया होगा। यह सोने और प्लैटिनम की शुद्धता का पैमाना है।

हल्की जूलरी खरीदें
हल्की जूलरी खरीदें ताकि इसको डेली बेसिस पर पहना जा सके, यह अफॉर्डेबल होती है और इसको बदलना भी आसान होता है। जियोमेट्रिकल और सिंपल डिजाइन लेना बेहतर ऑप्शन है।

डायमंड खरीदते वक्त रखें याद
कैरट, कलर, क्लैरिटी और कट, डायमंड खरीदते वक्त ये चार क याद रखें। इसके लिए पहले से रीसर्च करके जाएं। जूलरी मार्केट के ट्रेंड्स और स्टायलिस्ट्स को फॉलो करें।

विश्वसनीय दुकान से ही खरीदें
दुकान में सेल्स के लोग आपकी जूलरी लेने में काफी मदद कर सकते हैं। ब्रैंडेड जूलरी वेबसाइट्स पर भी आसान रिटर्न पॉलिसीज हैं। दुकान जाकर या ऑनलाइन जैसे भी खरीदें लेकिन ब्रैंड का ध्यान जरूर रखें।