Close X
Thursday, August 16th, 2018

 प्रदेश से किसी भी तरह से प्रतिभा पलायन रोकना हमारी प्राथमिकताः योगी

लखनऊ
राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने शुक्रवार को लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में 'एक जिला, एक उत्पाद' (वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट) की तीन दिवसीय समिट का उद्घाटन किया। इस मौके पर सीएम योगी, राज्यपाल रामनाईक, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य भी मौजूद रहे। सभा को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि कम समय में बेहतर परिणाम हर क्षेत्र में लेकर आना है, इसके लिए आवश्यक था कि युवाओं को पलायन से रोका जाए। युवाओं के लिए रोजगार व स्वावलंबन के कार्यक्रम स्थापित हो। एक जनपद-एक उत्पाद योजना को इसी सोच के साथ लाया गया है। 
 
योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश अपनी परंपरागत छवि से उबरकर अपने उद्यम व पुरुषार्थ के माध्यम से देश में एक नई पहचान हासिल करेगा। 22 करोड़ की आबादी को स्वावलंबन की ओर अग्रसर करना हम सबके लिए चुनौती थी। उन्होंने कहा कि जब हमने मार्च, 2017 में कार्य आरंभ किया तो उस वक्त उत्तर प्रदेश की क्या स्थिति थी, इस बारे में हमें बोलने की आवश्यकता नहीं है इसके बारे में आप सभी जानते हैं।  

उन्होंने कहा कि एक जनपद-एक उत्पाद योजना के तहत स्टार्टअप के लिए 250 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। पहली बार एक साथ 75 जनपदों में लाभार्थियों को 1006 करोड़ रुपए के वित्तपोषण की व्यवस्था की जा रही है। इसके साथ ही योगी ने बताया कि एक जनपद-एक उत्पाद की कॉफी टेबल बुक का अनावरण हुआ है। इसमें विस्तृत रूप से योजना के बारे में प्रकाश डाला गया है। इस योजना के माध्यम से हर वर्ष 5 लाख नौजवानों को रोजगार से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। 

 योगी ने कहा कि इससे युवा अपने घर, अपने गांव, अपने जनपद और अपने प्रदेश में रोजगार पाएंगे। हमें विश्वास है कि पलायन रुकेगा और प्रतिभा का प्रयोग प्रदेश में ही होगा। विभिन्न जनपदों के उत्पादों की मार्केटिंग व ब्रांडिंग की दिशा में भी महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं।

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

14 + 4 =

पाठको की राय