इंदौर
इंदौर में 18 अक्टूबर को होने जा रहे मैग्नीफिसेंट एमपी में इस बार राज्य सरकार ने 90 हजार करोड़ का निवेश जुटाने की तैयारी की है। इसके लिए सभी विभागों के अफसर जुट गए है। निवेशकों के अनुकूल प्रदेश की उद्योग नीति में परिवर्तन किए जा रहे है। सर्वाधिक बारह हजार करोड़ का निवेश लाजिस्टिक हब के क्षेत्र में चौतीस कंपनियों के जरिए एमपी में कराने की तैयारी है। इनके प्रस्ताव अभी से निवेश एवं प्रोत्साहन विभाग के पास पहुंचने लगे है।

सूत्रों के मुताबिक मध्यप्रदेश में जिन क्षेत्रों में निवेशकों ने रुचि दिखाई है उनमें सीमेंट के इंटीग्रेटेड प्लांट के दस हजार करोड़ के चार, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का छह हजार करोड़ का एक, टैक्सटाईल उद्योग के क्षेत्र में छह हजार करोड़ के दो, फार्म के क्षेत्र में तीन हजार करोड़ के चार,  टायर निर्माण के क्षेत्र में तीन हजार करोड़ के दो उद्योगपतियों ने निवेश का प्रस्ताव दिया है।

मैग्नीफिसेंट एमपी के लिए तैयार हो रहे इंदौर में पूरे आयोजन की रूपरेखा भी तय कर ली गई है। आयोजन के लिए जो व्यवस्था तय हुई है, उसके मुताबिक 17 अक्टूबर को सीएम कमलनाथ ब्रिलियंट कन्वेशन सेंटर में लगाई गई प्रदर्शनी का शुभारंभ करेंगे। सीएम नाथ सिहासा के आईटी पार्क और पीथमपुर के स्मार्ट इंडस्ट्रियल पार्क व इंटीग्रेटेड वाटर सप्लाई सिस्टम का लोकार्पण करेंगे। सीएम नाथ आईडीए द्वारा बनाए गए आईएसबीटी और तीसरे आईटी पार्क का भूमिपूजन इस दौरान करेंगे। इसी दिन उनकी सीआईआई नेशनल काउंसिल के साथ डिनर पर उद्योगपतियों से चर्चा होगी।