फोन के लुक्स पर वीवो ने काफी मेहनत की है। 6.44 इंच के सुपर एमोलेड डिस्प्ले में पंच होल या वॉटर ड्रॉप नॉच जैसी रुकावट नहीं है। इससे वीडियोज देखने का नजरिया बदल जाता है। बैक में गोरिल्ला ग्लास 6 का प्रोटेक्शन फोन को जल्दी गंदा नहीं होने देता और स्क्रैच से भी बचाता है। गूगल असिस्टेंट के लिए डेडिकेटेड बटन है। इसी की मदद से वीवो का इमेज रिकग्नाइजर जोवी भी एक्टिवेट कर सकते हैं, जो काफी काम का है। फोन में एसडी कार्ड का ऑप्शन नहीं है। 128 जीबी रॉम में 110 जीबी तक जगह मिल जाती है।
फिंगरप्रिंट सेंसर अब तक इस्तेमाल किए गए फोन्स में सबसे फास्ट लगा। 3 बार में अगर फोन अनलॉक नहीं होता है तो पॉप अप कैमरा आपका चेहरा पढ़कर डिवाइस अनलॉक कर देता है। वीवो ने इसे असिस्टेंट फेस अनलॉक कहा है।
फोन की ताकत इसके कैमरा हैं। फ्रंट में दो कैमरे हैं, जो पॉप सेल्फी के रूप में बाहर निकलते हैं। इसमें मेन लेंस 32 एमपी का है। साथ में 8 एमपी का वाइड एंगल लेंस है, ताकि फ्रेम में ज्यादा लोग आ सकें। दोनों कैमरों के बीच फ्लैश लाइट है। इससे घुप्प अंधेरे में भी सेल्फी ले सकते हैं। नाइट मोड का ऑप्शन भी यहां मिलता है। इन सभी कॉम्बिनेशन से वीवो का डुअल सेल्फी कैमरा हर लाइट में अच्छी फोटो लेता है। ब्यूटी इफेक्ट्स कमाल हैं। बोकेह फोटो में भी हमें कोई कमी नजर नहीं आई।

रियर में 4 कैमरे- 48 एमपी का मेन लेंस, 8 एमपी का सुपर मैक्रो/वाइड एंगल लेंस, 2 एमपी का बोकेह लेंस और 13 एमपी का 2X ऑप्टिक जूम लेंस है। डिटेल देने में मेन लेंस चूकता नहीं है। हालांकि लो लाइट में यह थोड़ा स्ट्रगल करता है। तब नाइट मोड से बेहतर फोटो मिलती हैं।

बेहद नजदीक से डीटेल्स के साथ फोटो लेने में मैक्रो लेंस भी कामयाब दिखा। 2X ऑप्टिकल जूम लेंस इनडोर ऑब्जेक्ट्स को भी डिटेल के साथ कैप्चर कर सकता है।

V17 प्रो में 10X डिजिटल जूम भी है, जो दूर के ऑब्जेक्ट को कैद तो करता है, लेकिन फोटो में वो मजा नहीं आता। कैमरा ऐप भटकाने वाला है। इतने सारे लेंस के फीचर ऐप में एकसाथ होते तो बेहतर होता। उन्हें तलाशने में नए यूजर को दिमाग दौड़ाना पड़ेगा।

क्वालकाम स्नैपड्रैगन 675 प्रोसेसर और 8 जीबी रैम के साथ हमें स्मूद परफॉर्मेंस मिली। हाई सेटिंग्स में भी गेमिंग मुमकिन है, लेकिन 29,990 रुपये में क्या इतना काफी होगा? खासतौर पर जब इससे कम में स्नैपड्रैगन 855 ऑफर हो रहा है। वीवो 712 या 730 प्रोसेसर तो दे ही सकता था। मल्टीटास्किंग में डार्क मोड फीचर पसंद आया। टाइप सी पोर्ट और फास्ट चार्जर से 1.45 घंटे में फोन 13% से 100% पर पहुंच गया। 4100 एमएएच की बैटरी टिकाऊ है। डेढ़ दिन तक आराम से चलती है।
‘वी17 प्रो’ में वीवो ने हर लेवल पर बेहतर देने की कोशिश की है। लेकिन कैमरा और परफॉर्मेंस के बीच एक लकीर भी खिंचती दिखती है। आपको इनमें से क्या चाहिए, खुद तय कीजिए।