Close X
Thursday, August 16th, 2018

36 साल बाद पाकिस्तान की जेल से रिहा होंगे जयपुर के गजेंद्र

जयपुर 
राजस्थान की राजधानी जयपुर के रहने वाले गजेंद्र शर्मा ने साल 1982 में जब अपना घर छोड़ा था, तब वह 40 साल के थे। उस वक्त उनका खुशहाल परिवार था और वे दो बच्चों के पिता भी थे। अब 36 साल बाद वह अपने घर लौटेंगे तो अपने छह पोते-पोतियों से मिलेंगे। गजेंद्र ने अपनी जिंदगी के यह 36 साल कहीं और नहीं, बल्कि पाकिस्तान की जेल में बिताए। 
 
इसी साल मई में पता चला कि गजेंद्र पाकिस्तान के कोट लखपत जेल, लाहौर में बंद हैं। ऐसे में उनकी रिहाई के लिए उनके परिजनों ने दिन-रात एक कर दिया। आखरिकार मेहनत रंग लाई और गजेंद्र 13 अगस्त को जेल से रिहा होने जा रहे हैं। 

परिजनों में खुशी 
गजेंद्र की पत्नी मखनी देवी और उनका छोटा बेटा मुकेश गुरुवार को दिल्ली में वीके सिंह से मिले। मुकेश ने बताया, 'हम लोगों को बताया गया है कि मेरे पिता 13 अगस्त को जेल से छोड़े जाएंगे। हम प्रार्थना कर रहे हैं कि वह घर या अपने देश स्वतंत्रता दिवस के पहले आ जाएं।' 

गजेंद्र के परिवारवाले उनके आने की खुशी में एक बड़ा समारोह आयोजित करने की तैयारी कर रहे हैं। जयपुर के सांसद रामचरन बोहरा ने कहा, 'हम लोगों को पंजाब में छपी खबरों से पता चला कि गजेंद्र पाकिस्तान की जेल में बंद हैं लेकिन वह जेल तक कैसे पहुंचे यह साफ नहीं था। परिवारवाले मेरे पास आए। पता चला कि उसे पाकिस्तान में दो महीने की जेल हुई थी लेकिन कोई वकील न होने के कारण उसे अपनी जिंदगी के 36 साल जेल में बिताने पड़े।' 
 

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

10 + 14 =

पाठको की राय