पिछले कुछ साल में वियरेबल्स का मार्केट तेजी से बदला है और नया डिवाइस म्यूजिक और उसके खूबसूरत एहसास से जुड़ा है। यह वियरेबल दरअसल एक खास तरह का शर्ट है, जिसे साउंड शर्ट नाम दिया गया है। इस शर्ट में 16 सेंसर लगाए गए हैं, जो शरीर के अलग-अलग हिस्सों में संवेदना पैदा करते हैं और इस तरह बज रहे म्यूजिक का एहसास शरीर तक भेजते हैं, जिससे पूरी तरह सुनने में अक्षम दिव्यांग भी म्यूजिक को महसूस कर सकें। हाई-टेक साउंड शर्ट एक कंप्यूटर सिस्टम से जुड़ी होती है जो स्टेज के चारों ओर लगाए गए माइक्रोफोन्स से ऑडियो ट्रांसमिट करता है। इस तरह जिनकी श्रवण शक्ति कम होती है, वे भी शर्ट पहनकर कॉन्सर्ट या म्यूजिक इवेंट का आनंद ले सकते हैं।

साउंड शर्ट को लंदन की एक कंपनी CuteCircuit ने डिवेलप किया है। यह कंपनी केटी पेरी जैसे सिलेब्स के लिए म्यूजिक इवेंट्स में पहनने वाले आउटफिट्स डिजाइन कर चुकी है। CuteCircuit ने कहा, 'साउंड शर्ट की मदद से कोई भी सुनने में अक्षम दिव्यांग व्यक्ति अपनी स्किन पर म्यूजिक को फील कर सकता है और पहली बार उसे किसी लाइव कॉन्सर्ट जैसा एक्सपीरियंट यह शर्ट पहनने पर मिलेगा।' कंपनी ने कहा, 'पहली बार किसी सुनने में अक्षम दिव्यांग व्यक्ति को ऑडियंस में बैठकर म्यूजिक फील करते देखने का एहसास ही अलग है। इस शर्ट की मदद से लाइव म्यूजिक एक्सपीरियंस आखिरकार सभी के साथ शेयर किया जा सकेगा।'

ऐसे काम करती है शर्ट

साउंड शर्ट कई चरणों में काम करती है और सबसे पहले इससे जुड़ा कंप्यूटर सिस्टम माइक्रोफोन्स की मदद से स्टेज के अलग-अलग हिस्सों पर साउंड रिकॉर्ड करता है। इसके बाद इसमें अलग-अलग पोजीशन पर लगाए गए 16 सेंसर वायरलेस डेटा रिसीव करते हैं और ट्रांसमिट करते हैं। कंपनी के सीईओ रायन जेंज ने Fortune को बताया, 'हमने इस सिस्टम को ऐसे मैप किया है, जिस तरह हमारा शरीर म्यूजिक को लेकर रिऐक्ट करता है।' उन्होंने कहा, 'शर्ट की मदद से डीप और हैवी बास नोट्स शरीर के निचले हिस्से में महसूस होते हैं और वहीं वायलिन जैसे यंत्र के लाइट नोट्स या इससे भी हल्के नोट्स ऊपर के हिस्सों जैसे- गले के पास और कंधों के नजदीक महसूस होते हैं।'


नहीं है कोई वायरिंग

साउंड शर्ट को स्किन के लिए कंफर्टेबल बनाया गया है ौर किसी भी तरह के वायर्स इसमें नहीं हैं। 'सॉफ्ट स्ट्रेच फैब्रिक' से बनाई गई शर्ट को पहनने के बाद जब सुनने में अक्षम दिव्यांग यूजर्स ऑर्केस्ट्रा को देख रहे होते हैं, उनके कुछ अंग बाकियों के मुकाबले ज्यादा ऐक्टिव होते हैं। शर्ट से निकलने वाले सेंसेशन शरीर में साउंड वेव्स की तरह महसूस होते हैं और म्यूजिक फील किया जा सकता है। CuteCircuit की को-फाउंडर और चीफ क्रिएटिव ऑफिसर फ्रांसेस्का रोसेला ने बताया, 'शर्ट के अंदर या इसके किसी भी हिस्से में वायर नहीं लगाए गए हैं। हम इसके लिए केवल स्मार्ट फैब्रिक का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसमें सेंसर्स को जोड़ने के लिए माइक्रोइलेक्ट्रॉनिक्स का इस्तेमाल किया गया है, जो बेहद पतला और कंडक्टिव फैब्रिक है।'

 

इतनी होगी कीमत

बात साउंड शर्ट की कीमत की करें तो जाहिर सी बात है, यह टेक्नॉलजी अभी बहुत महंगी है। साउंड शर्ट की कीमत सेल के लिए 3,673 डॉलर से ज्यादा हो सकती है। हालांकि, कंपनी का मानना है कि सुनने में अक्षम दिव्यांग लोगों को लाइव म्यूजिक का एक्सपीरियंस रियल टाइम में देने के लिए यह रकम ज्यादा नहीं है। इसकी मदद से सुनने में अक्षम दिव्यांग यूजर्स भी खुद को म्यूजिक के बीच पाएंगे और पूरी तरह जुड़ा हुआ महसूस करेंगे।