कुंडली भाग्य के पिछले एपिसोड में आपने देखा कि करण और प्रीता एक बूढ़ी औरत के साथ एक कमरे में छिप जाते हैं। उनके साथ आयुष भी है। करण को देखकर महिला खुश है। महिला करण से कहती है कि मैं तेरे क्रिकेट की फैन नहीं हूं, मैं तो तेरे प्यार की फैन हूं। वह करण से कहती है कि मैंने देखा कि जब एक आतंकवादी ने प्रीता को मारा तो तुम्हें कितना गुस्सा आया। महिला कहती है कि तुमने आतंकवादी को लगभग मार ही दिया था।

महिला की इन बातों को सुनकर प्रीता दंग है। करण भी हैरान है। वह महिला करण से पूछती है कि नई-नई शादी हुई है क्या तुम दोनों की। इस पर करण कहता है कि नहीं-नहीं आंटी, इसकी शादी नहीं हुई है। देखिए इसके हाथों में चूड़ियां हैं क्या।


कुंडली भाग्य के अगले एपिसोड में हम देखेंगे कि होटल में आतंकवादियों और पुलिस में गोलीबारी शुरू हो गई है। एक आतंकी पुलिस की गोली से जख्मी हो जाता है। यह देख बाकी आतंकी घबरा जाते हैं। इसी बीच एक आतंकी एक बम उस तरफ फेंकता है जहां प्रीता और करण छिपे होते हैं। करण बम को नोटिस करता है।

वहीं दूसरे दृश्य में हम देखते हैं कि करण प्रीता को हाथों में उठाए अस्पताल में है। वह प्रीता को डॉक्टर को सौंपता है। प्रीता जख्मी है।