रायपुर
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने निवास में भेट मुलाकात कार्यक्रम के बाद इशारों में ही बहुत कुछ कह दिया।  उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का नाम लिए बिना  कहा कि फिजूलखर्ची रोकने के लिए मैंने खुद अपने काफिले में कटौती की है, लेकिन पुराने लोग उसी तरह चल रहे हैं। फिजूलखर्ची रोककर जनता के हित में काम किए गए हैं। ये सब वित्तीय अनुशासन से संभव हो पाया है। मैं किसी को सलाह नहीं देता,खुद को आत्म मंथन करना चाहिए।

उन्होंने चित्रकोट उपचुनाव पर कहा कि यह चुनाव भी हम जीतेंगे। श्री बघेल ने कहा कि वे खुद इसके प्रचार के लिए गुरूवार को चित्रकोट जा रहे हैं। विद्या मितान पर उन्होंने कहा कि विद्या मितानों को हमने मौका देने की बात कही थी। साथ ही जिले में तत्कालीन खाली पद पड़े हुए हैं। उन्हें जरूरत के हिसाब से रखा जायेगा।

शासन द्वारा काफिले से गाडियां कम करने को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का बयान आया है। उन्होंने शासन को दिवालियापन की ओर जाने की बात कही है। साथ ही कांग्रेस पर आरोप लगाते फंड की कमी के चलते प्रदेश में विकासकार्यों पर अंकुश लग जाने की बात कही है।