टोंक

राजस्थान के टोंक जिले के मालपुरा कस्बे में प्रशासन ने बुधवार सुबह 6:00 बजे से कर्फ्यू लगा दिया है. मंगलवार शाम दशहरा जुलूस के दौरान पथराव के बाद इलाके में हालात बिगड़ गए थे. दशहरा जुलूस जब आरएसी चौकी के पास से गुजर रहा था तो दशहरा जुलूस का फूलों से स्वागत किया जा रहा था. इसी बीच कुछ असामाजिक तत्वों ने जुलूस पर पथराव कर दिया और भगदड़ मच गई.

इससे नाराज होकर मालपुरा के विधायक कन्हैयालाल डेढ़ सौ लोगों के साथ धरने पर बैठ गए. इन लोगों ने कल मालपुरा में रावण दहन भी नहीं होने दिया. इनका कहना था कि जब तक पथराव करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जाएगा तब तक रावण दहन नहीं होने देंगे.

प्रशासन को डर था कि सुबह होने पर हालात बिगड़ सकते हैं लिहाजा नगरपालिका कर्मचारियों के साथ मिलकर सुबह 4:30 बजे रावण दहन कर दिया और 6:00 बजे से कर्फ्यू लगा दिया है. हालांकि थाने के बाहर अभी विधायक धरने पर बैठे हुए हैं.

टोंक जिले में मालपुरा कस्बा बेहद संवेदनशील रहा है जहां पर पहले भी दो समुदायों के बीच में छोटे-बड़े विवाद हो चुके हैं. कई बार इन विवादों ने गंभीर रुख अख्तियार भी किया है.

पुलिस थाने में आईजी संजीव कुमार नर्सरी खुद बैठे हुए हैं. पुलिस का दावा है कि हमने 6-7 लोगों को हिरासत में लिया है. पूरे मामले की जांच कर रहे हैं थाने के अंदर कलेक्टर और एसपी ही मौजूद हैं  जयपुर से अतिरिक्त पुलिस बल भी मंगा लिया गया है.