Friday, October 19th, 2018

मंगल पर पहली बार हुई झील की खोज

टम्पा
मंगल पर पहली बार विशाल भूमिगत झील का पता चला है। इससे वहां अधिक पानी और यहां तक कि जीवन की उपस्थिति की संभावना पैदा हो गयी है। अमेरिकी जर्नल साइंस में प्रकाशित अध्ययन में अनुसंधानकर्ताओं ने कहा है कि मार्सियन हिम खण्ड के नीचे अवस्थित झील 20 किलोमीटर चौड़ी है। यह मंगल ग्रह पर पाया गया अब तक का सबसे बड़ा जल निकाय है। ऑस्ट्रेलिया के स्विनबर्न विश्वविद्यालय में सहायक प्रोफ़ेसर एलन डफी ने इसे शानदार उपलब्धि करार देते हुए कहा कि इससे जीवन के अनुकूल परिस्थितियों की संभावनाएं खुलती हैं।

गौरतलब है कि कुछ समय पहले मंगल ग्रह को लेकर एक अध्ययन में ये खुलासा हुआ था कि करीब 13 करोड़ वर्ष पहले मंगल ग्रह पर संभवत: जल और जिंदगी का अस्तित्व था जो पृथ्वी के ठोस बनने से पहले की घटना है। वैज्ञानिकों ने ब्लैक ब्यूटी नाम के एक उल्का पिंड का विश्लेषण करने के बाद यह जानकारी दी, डेनमार्क के नेचुरल हिस्ट्री म्यूजियम के शोधकर्ताओं ने मंगल पर तेजी से सघनता आने और ठोस सतह के निर्माण के नए साक्ष्य पाए।

यह शोध मंगल ग्रह पर ब्लैक ब्यूटी उल्का पिंड के विश्लेषण पर आधारित है जो इस संभावना के दरवाजे खोलती है कि मंगल ग्रह पर जीवन का अस्तित्व रहा होगा। सौरमंडल के सभी ग्रहों में, समान घूर्णन अक्षीय झुकाव के कारण मंगल और पृथ्वी पर ऋतुएँ ज्यादातर एक जैसी है। मंगल के ऋतुओं की लंबाई पृथ्वी की अपेक्षा लगभग दोगुनी है, सूर्य से अपेक्षाकृत अधिक से अधिक दूर होने से मंगल के वर्ष, लगभग दो पृथ्वी-वर्ष लंबाई जितने आगे हैं। मंगल सतह का तापमान भी विविधतापूर्ण है।

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

7 + 15 =

पाठको की राय