रायपुर
 मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज दुर्ग जिले के जुनवानी में श्री शंकराचार्य इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज के 750 बिस्तरों वाले शंकराचार्य अस्पताल के लोकार्पण कार्यक्रम में कहा कि मैंने अभी अस्पताल में मौजूद बुनियादी अधोसंरचना देखी, यहां के चिकित्सकों से मिला, यहां उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी ली। लोगों को समुचित स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने की दिशा में यह अस्पताल महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा और दुर्ग-भिलाई के नागरिकों के लिए काफी उपयोगी होगा।

आज अस्पताल का लोकार्पण जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के हाथों हुआ। शंकराचार्य ने अस्पताल को प्रबंधन की बड़ी उपलब्धि बताया। उन्होंने कहा कि सर्वोत्तम स्वास्थ्य सुविधाएं देने के दृष्टिकोण से अस्पताल बड़ी भूमिका निभाएगा। उन्होंने कहा कि इस संस्थान में चिकित्सा शिक्षा के लिए भी कार्य हो रहा है। यह बहुत अच्छा कार्य है। उन्होंने कहा कि शास्त्रों में निरोगी काया का बहुत महत्व है। इस दिशा में कार्य होता है तो ये बहुत अच्छी बात है।

इस अवसर पर मौजूद गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने भी अस्पताल के लोकार्पण के अवसर पर प्रबंधन, समस्त स्टाफ और दुर्ग-भिलाई के नागरिकों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि अस्पताल के आरंभ होने से क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं का ढांचा और मजबूत हो जाएगा।

750 बिस्तरों के इस अस्पताल में 144 बिस्तरों का आईसीयू ,8 मॉड्यूलर आपरेशन थियेटर ,कार्डियोलॉजी एवं कैथ लैब(स्टेंट की सुविधा भी), कुल 22 विभाग और 6 सुपर स्पेशयलिटी सर्विसेज उपलब्ध हैं। अस्पताल में इलाज हेतु आयुष्मान भारत योजना और स्मार्ट कार्ड के उपयोग की सुविधा भी उपलब्ध है।