छिंदवाड़ा
जिला मुख्यालय से लगभग 20 किलोमीटर दूर चाहिन्या कला गांव में शनिवार की शाम को एक हैंडपंप (Hand pump) का दूषित पानी (Contaminated Water) पीने से तीन लोगों की मौत हो गई और 50 से अधिक लोग बीमर हो गए. उल्टी और दस्त लगने से पीड़ित 25 लोगों का उपचार जिला अस्पताल (District Hospital) में चल रहा है ज​बकि बाकी लोगों को जांच के बाद छुट्टी दे दी गई है. जिले के अतिरिक्त कलेक्टर राजेश शाही ने रविवार को बताया कि पिंडरईकला के ग्राम चान्हिया कला गांव में लगे एक हैंडपंप के दूषित पानी पीने से दो बुजुर्ग महिलाएं रमौली उसरेठे (80), मीरा (50) और 4 वर्षीय बालिका रिशिना ईवनाती की मौत हो गई.

कलेक्टर ने बताया कि बीमार लोगों को शहर के निजी और जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां 25 लोगों का उपचार अब भी चल रहा है. प्राथमिक जांच में सामने आया है कि गांव के लोगों ने हैंडपंप के पानी का सेवन किया था, जिसके चलते डायरिया (Diarrhoea) फैलने की शिकायत सामने आई. घटना की जानकारी होते ही वह तहसीलदार महेश अग्रवाल, पीएचई अधिकारी सहित स्वास्थ्य विभाग की टीम को लेकर मौके पर पहुंचे. तुरंत ही शिविर लगाकर ग्रामीणों के स्वास्थ्य की जांच की गई और दवाइयों का वितरण किया गया.

एडीएम ने बताया कि पीएचई विभाग द्वारा पानी का नमूना (Water Sample) लेकर जांच के लिए भेज दिया गया है. रिपोर्ट आने के बाद स्पष्ट होगा कि पानी के कारण लोग बीमार हुए हैं या फिर और कोई कारण है.