नई दिल्ली 
टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने तीसरे और अंतिम टी-20 मैच में दक्षिण अफ्रीका के हाथों मिली हार के बाद कहा कि उनकी टीम खेल को पढ़ने में असफल रही। साथ ही उन्होंने कहा कि यह मैच उनकी टीम के लिए एक सबक की तरह है और हम ऐसा ही मैच चाहते थे। कप्तान क्विंटन डिकॉक (नाबाद 79) के करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी के दम पर दक्षिण अफ्रीका ने रविवार (22 सितंबर) को एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए तीसरे और अंतिम टी-20 मैच में भारत को नौ विकेट से करारी शिकस्त दी। इस जीत के बाद दक्षिण अफ्रीका ने तीन मैचों की टी-20 सीरीज 1-1 से ड्रॉ करा ली है। सीरीज का पहला मैच बारिश के कारण रद्द हो गया था जबकि दूसरा मैच भारत ने सात विकेट से जीता था। 

भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए नौ विकेट पर 134 रनों का स्कोर बनाया, जिसे दक्षिण अफ्रीका ने 19 गेंद शेष रहते एक विकेट खोकर हासिल कर लिया। पोस्ट मैच सेरेमनी में विराट कोहली ने कहा, 'मुझे लगता है दक्षिण अफ्रीका ने शानदार गेंदबाजी की। पहली पारी में पिच उनको रास आई। हम खेल के टैंपो को पढ़ने में सफल नहीं रहे।'

भारत बनाम साउथ अफ्रीका बेंगलुरु टी-20 स्कोरकार्ड
विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनने के फैसले का बचाव करते हुए कहा कि हम ऐसा ही मैच चाहते थे। यह अगले साल होने वाले वर्ल्ड कप की तैयारियों के लिए था। हम खराब कंडिशंस में अच्छा खेलने के लिए तैयारी कर रहे हैं। अगले साल होने वाले वर्ल्ड कप तक हम इसी तरह पहले बल्लेबाजी करके खुद को आजमाती रहेगी। उन्होंने कहा, 'टीम इस तरह की सपाट विकेटों वाले मैचों में पहले बल्लेबाजी करने से पीछे नहीं हटेगी। इस तरह की पिचों पर पहले बल्लेबाजी करके हम खुद को आजमाते रहेंगे।'

उन्होंने कहा, 'हम ऐसा ही करना चाहते थे। वर्ल्ड कप से पहले हम हर तरह की कंडिशंस में खेलना चाहते हैं। हम अपना माइंडसैट लचीला करना चाहते हैं और कोशिश कर रहे हैं कि विपरीत परिस्थितियों में भी बेहतर खेल सकें। हमारे पर ऐसे भी मैच आएंगे, जहां हम जैसा चाहते हैं वैसा कर नहीं कप पाएंगे। लेकिन जब तक सुधार करने का इरादा है, हम अच्छा कर पाएंगे।'

जब कॉमेंट्री बॉक्स में KBC खेलने लगे सुनील गावस्कर और हर्षा भोगले
भारत ने इस मैच में अपने प्लेइंग इलेवन में कोई बदलाव नहीं किया था। इस पर विराट कोहली ने कहा कि युवा खिलाड़ियों के साथ धैर्य से काम लेना चाहते हैं। उन्होंने कहा, 'हम जल्द से जल्द टीम के लिए सही संयोजन चुनना चाहते हैं। जो खिलाड़ी घरेलू सर्किट में अच्छा कर रहे हैं, उन्हें मौके दिए जा रहे हैं। आपको समझना होगा कि यह एक युवा टीम है। उन्हें वक्त देना होगा ताकि वह टीम के साथ आ सकें।'