यूं तो ब्राजील को 'सांपों का देश' कहा जाता है, क्योंकि यहां इतने सांप हैं, जितने दुनिया में आपको कहीं और नहीं मिलेंगे। लेकिन क्या आप जानते हैं कि दुनिया में एक देश ऐसा भी है, जहां 'सांप विहीन' है यानी यहां एक भी सांप नहीं हैं। जी हां, आयरलैंड एक ऐसा देश है, जहां सांप हैं ही नहीं, लेकिन इसके पीछे की वजह जानेंगे तो आप और भी हैरान रह जाएंगे।

आयरलैंड में सांपों के नहीं होने की वजह जानने से पहले यहां के बारे में कुछ रोचक बातें भी जान लेते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि आयरलैंड में मानव जाति के होने के सबूत 12800 ई.पू. से भी पहले के हैं। इसके अलावा आयरलैंड की एक और खास बात है कि यहां एक ऐसा बार है जो सन् 900 में खुला था और यह आज भी चल रहा है। इसका नाम 'सीन्स बार (Sean’s Bar)' है।

'टाइटैनिक' जहाज के बारे में तो आप जानते ही होंगे। यह दुनिया का सबसे बड़ा जहाज था, जो 14 अप्रैल, 1912 को समुद्र में डूब गया था। इस जहाज को उत्तरी आयरलैंड के बेलफास्ट शहर में बनाया गया था।

आयरलैंड के बारे में कहा जाता है कि आज के समय में धरती पर जितने भी ध्रुवीय भालू जीवित हैं, अगर उनके पूर्वजों का पता लगाने की कोशिश करें तो ये सभी आयरलैंड में 50 हजार साल पहले जीवित एक भूरी मादा भालू के बच्चे हैं।

अब आते हैं इस सवाल पर कि आयरलैंड में आखिर सांप क्यों नहीं पाए जाते? दरअसल, इसके पीछे एक पौराणिक कथा प्रचलित है। कहा जाता है कि आयरलैंड में ईसाई धर्म की सुरक्षा के लिए सेंट पैट्रिक नामक एक संत ने एक साथ पूरे देश के सांपों को घेर लिया और उन्हें इस आइलैंड से निकाल कर समुद्र में फेंक दिया। उन्होंने 40 दिन भूखे पेट रहकर इस काम को पूरा किया था।

हालांकि वैज्ञानिकों का मानना है कि आयरलैंड में कभी सांप थे ही नहीं। जीवाश्म अभिलेख विभाग में ऐसा कोई भी रिकॉर्ड दर्ज नहीं है, जिससे यह पता चले कि आयरलैंड में कभी सांप थे।

आयरलैंड में सांपों के न होने को लेकर यह कहानी भी प्रचलित है कि यहां पहले सांप पाये तो जाते थे, लेकिन अत्यधिक ठंड के कारण वो विलुप्त हो गए। तब से यही मान लिया गया कि ठंड के कारण ही यहां सांप नहीं पाये जाते हैं।